सौतन से पीछा छुड़ाने का वज़ीफ़ा


सौतन से पीछा छुड़ाने का वज़ीफ़ा – Sautan Se Peecha Chudane Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Taweez, Tarika, Upay, सौतन किसे अच्छी लगती है? वो आपके शोहर को आपसे दूर ले जाती है, इसलिए आज हम आपको दूसरी औरत से पीछा छुड़ाने का वज़ीफ़ा और किसी लड़की से छुटकारा पाने की दुआ बता रहे है. इसे प्रेमिका से पीछा छुड़ाने का अमल भी कहा जाता है.

Sautan Se Peecha Chudane Ka Wazifa

निकाह के बाद एक महिला अपने शौहर की हमसफर बनकर उसके सभी सुख-दुख बांटती है। चाहे कैसी भी परिस्थितियाँ क्यों ना आ जाए, एक अच्छी बीवी अपने शौहर का साथ कभी नहीं छोड़ती।

उसे अपने पति की हर खुशी मंजूर होती है, लेकिन अपने पति का किसी अन्य महिला के करीब जाता देखना उसे बर्दाश्त नहीं होता। कोई भी महिला ये नहीं चाहती कि उसकी ज़िन्दगी में कभी कोई सौतन आए।

सौतन से पीछा छुड़ाने का वज़ीफ़ा – Sautan Se Peecha Chudane Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Taweez, Tarika, Upay

इसके बावजदू कई बार पति घर के बाहर या ऑफिस में किसी महिला के चक्कर में फंस जाता है। ऐसे समय पर आप सौतन से पीछा छुड़ाने का वज़ीफ़ा का इस्तेमाल कर सकते है।

यदि आपका पति भी घर में आपकी सौतन ले आया है और आप अपनी सौतन से छुटकारा पाना चाहती है तो एक बार सौतन से पीछा छुड़ाने का वज़ीफ़ा अवश्य पढें।

सौतन से पीछा छुड़ाने का वज़ीफ़ा बहुत ही सरल है। इस वजीफे के आपको 11 दिन तक हर रोज़ करना है। यह वजीफा आप दिन में किसी भी समय कर सकते है, लेकिन ध्यान रखिए अगले 11 दिन तक हर रोज़ आपको उसी समय यह वजीफा करना होगा। सौतन से पीछा छुड़ाने का वज़ीफ़ा के लिए सबसे पहले 11 बार दुरूद ए पाक पढ़ें। इसके बाद आपको नीचे दिया गया वजीफा 1100 मरतबा पढ़ना है-

अल्लाहुम अला अर्ज़ी ना मिन शर्री बिही नाफिअन

यह वजीफा पढ़ने के बाद अंत में फिर से 11 मरतबा ही दुरूद ए पाक पढ़ें। सौतन से पीछा छुड़ाने का वज़ीफ़ा में अब आपको कोई भी खाने की वस्तु या मिठाई लेकर दम करना है।

वह दम की हुई वस्तु अपने शौहर को खिला दें। 11 दिन तक रोज़ाना सौतन से पीछा छुड़ाने का वज़ीफ़ा इस्तेमाल करने से आपको सौतन से छुटकारा मिल जाएगा। इसके बाद आपका पति हर समय केवल आपके बारे में ही सोचेगा।

दूसरी औरत से पीछा छुड़ाने का वज़ीफ़ा

दूसरी औरत से पीछा छुड़ाने का वज़ीफ़ा – Dusri Aurat Se Peecha Chudane Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Taweez, Tarika, Upay, अक्सर ऐसा होता है कि जिस व्यक्ति से आप प्यार करती होगी, उसकी ज़िन्दगी में कोई अन्य महिला दख्ल देने की कोशिश करती है। अविवाहित और विवाहत दोनों जोड़ो के बीच ऐसा होना एक आम बात है।

कुछ महिलाएं केवल लोगों का घर बर्बाद करने के लिए मियां बीवी के रिश्ते में दरार डालने की कोशिश करती है।

यदि आप भी अपने पति से बेइंतहा मोहब्बत करते है और आपको लग रहा है कि आपके पति की ज़िन्दगी में कोई दूसरी औरत आ रही है तो दूसरी औरत से पीछा छुड़ाने का वज़ीफ़ा का इस्तेमाल कर सकते है।

Dusri Aurat Se Peecha Chudane Ka Wazifa

इस वजीफे के इस्तेमाल से आपके पति की ज़िन्दगी से अन्य सभी महिलाओं की हमेशा के लिए छुट्टी हो जाएगी।

जो महिलाएं अपने शौहर से प्यार करती है और अपनी सौतन या दूसरी महिला से छुटकारा पाना चाहती है उन्हें दूसरी औरत से पीछा छुड़ाने का वज़ीफ़ा एकांत में रात को सोने से पहले करना है। इस वजीफे के लिए आप सबसे पहले वुज़ू बना लें। अब आपको सबसे पहले 7 बार दुरूद ए पाक पढ़ना होगा। इसके बाद आपको नीचे दिया गया दूसरी औरत से पीछा छुड़ाने का वज़ीफ़ा पढ़ना है-
अलीमुल खैबी वाय शहादा हुआलू रहमान इल रहीम

21 बार यह वजीफा पढ़ने के बाद अंत में फिर से वही दुरूद ए पाक 7 बार पढ़ें, जो आपने अव्वल में पढ़ा था। अब आपको दालचीनी लेनी है और उसके ऊपर दम करना है। दूसरी औरत से पीछा छुड़ाने का वज़ीफ़ा के लिए आप अगले दिन किसी भी बहाने या खाने में मिलाकर वह दालचीनी अपने पति को खिला दें। दूसरी औरत से पीछा छुड़ाने का वज़ीफ़ा आपको 11 जुमे तक करना होगा।

प्रेमिका से पीछा छुड़ाने का अमल

प्रेमिका से पीछा छुड़ाने का अमल – Premika Se Peecha Chudane Ka Amal, Wazifa, Dua, Istikhara, Taweez, Tarika, Upay, एक पुरूष चाहता है उसकी ज़िन्दगी में कोई ऐसा शख्स हो जो उसका खुद से भी ज्यादा ध्यान रखें। इसके लिए वह अच्छी से अच्छी लड़की ढूंढने की कोशिश करता है।

लेकिन इसी दौरान कई बार कुछ ऐसी लड़कियाँ पीछे पड़ जाती है, जो हमारे लिए सही नहीं होती। ज़िन्दगी में यदी कोई खराब लड़की आ जाए तो वह जीते जी ज़िन्दगी को जहन्नुम बना देती है।

वहीं कई बार कुछ ऐसी लड़कियां पीछे पड़ जाती है, जिनसे आप चाहते हुए भी पीछा नहीं छुड़ा सकते। इस समस्या से बचने के लिए आप प्रेमिका से पीछा छुड़ाने का अमल का इस्तेमाल कर सकते है।

Premika Se Peecha Chudane Ka Amal

यदि आपकी ज़िन्दगी में भी कोई ऐसी महिला आ गई है, जिससे आप पीछा छुड़ाना चाहते है तो एक बार प्रेमिका से पीछा छुड़ाने का अमल का इस्तेमाल कर सकते हैं।

प्रेमिका से पीछा छुड़ाने का अमल बहुत ही शक्तिशाली है। यह अमल जानने के लिए आप मौलवी साहब या हमसे संपर्क कर सकते है। कई बार ऐसा भी होता है कि मियां बीवी एक की सुकून भरी ज़िन्दगी में कोई महिला आ जाती है।

ऐसे में पति को उसके चंगुल में फंसने से रोकने के लिए भी महिलाएं प्रेमिका से पीछा छुड़ाने का अमल कर सकती है। ध्यान रहें प्रेमिका से पीछा छुड़ाने का अमल हमेशा जायज मकसद के लिए करना चाहिए और इसके करने से पहले मौलवी जी से इजाजत लेना भी जरूरी है।

किसी लड़की से छुटकारा पाने की दुआ

किसी लड़की से छुटकारा पाने की दुआ – Kisi Ladki Se Chutkara Pane Ki Dua, Amal, Wazifa, Istikhara, Taweez, Tarika, Upay, यदि आप भी किसी ऐसी लड़की से परेशान है, जिसके आपकी ज़िन्दगी में आतंक मचा रखा है तो इस वजीफे से आपकी सारी समस्याएं हमेशा के लिए खत्म हो जाएगी।

आज के समय में फ्रॉड और गलत काम बहुत अधिक बढ़ गए है। कुछ लड़कियां भोले-भाले लड़को को फंसाकर बाद में उन्हें ब्लैकमेल करने की कोशिश करती है।

इसके अलावा कई बार लड़कियां लड़को पर झूठे आरोप लगाकर उन्हें फंसाने की कोशिश भी करती है। ऐसी लड़कियों से बचने के लि आप किसी लड़की से छुटकारा पाने की दुआ कर सकते है।

Kisi Ladki Se Chutkara Pane Ki Dua

यदि आप किसी महिला से सच्चा प्रेम करते है, लेकिन कोई अन्य लड़की या औरत आपकी ज़िन्दगी बर्बाद करने की कोशिश कर रही है तो एक बार हमारे द्वारा बताई जा रही किसी लड़की से छुटकारा पाने की दुआ अवश्य करें। यह दुआ करते समय आपको बिल्कुल पाक रहना होगा। सबसे पहले किसी तन्हा स्थान पर चादर बिछाकर बैठ जाएं। अपने सामने उस महिला की तस्वीर रख लें, जिससे आप छुटकारा पाना चाहते है। अब आपको किसी लड़की से छुटकारा पाने की दुआ 100 बार पढ़नी है-
यावमा इतनी यास अल दुरून वा कालाल जर्राहतिन अरजू लिल अमालहुम

यह दुआ पढ़ने के बाद आपको महिला की तस्वीर लेनी है और एक काले कपड़े में थोड़े से इत्र और काली मिर्च डालकर किसी कब्रिस्तान में रखनी होगी। किसी लड़की से छुटकारा पाने की दुआ आप मंगलवार या शनिवार छोड़कर किसी भी दिन कर सकते है।

Sautan shadishuda zindki ko kharab kar deti hai, uske pyar ke chakkar mai shohar sab kuch bhul ke uska diwana ho jata hai. shohar wo he karta hai jaise wo bolti hai or ghar ki usko koi fikr nahi rahati, isliye aaj hum aapko Sautan Se Peecha Chudane Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Taweez, Tarika, Upay or Dusri Aurat Se Peecha Chudane Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Taweez, Tarika, Upay bata rahe hai. iske alawa hum aaj aapko Premika Se Peecha Chudane Ka Amal, Wazifa, Dua, Istikhara, Taweez, Tarika, Upay or Kisi Ladki Se Chutkara Pane Ki Dua, Amal, Wazifa, Istikhara, Taweez, Tarika, Upay bhi batayege.

If you need any type of help and Guidance talks to us without any hesitation. In Sha Allah we will solve your problem.

Enquiry Form

शादी के लिए इस्तिखारा की दुआ


शादी के लिए इस्तिखारा की दुआ – Shadi Ke Liye Istikhara Ki Dua, Wazifa, Amal, Tarika, Upay, Tariqa, अपनी शादी ज़िन्द्की का सबसे खूबसूरत पल होता है जिसमे हम अपने सपनो को नयी उड़ान देते है, इसलिए आज हम आपको मनपसंद शादी के लिए इस्तिखारा और नाम से मोहब्बत की शादी का इस्तिखारा बता रहे है. इसके अलावा हम आपको शादी कब होगी इस्तिखारा से कैसे जाने के बारे मे भी बतायेगे।

Shadi Ke Liye Istikhara Ki Dua

अगर कोई लड़की या लड़का अपनी शादी को लेकर दुविधा में आ गए हांे। उनके माता-पिता भी आए शादी के लिए रिश्ते में चुनाव नहीं कर पा रहे हों कि कौन उनके लिए उपयुक्त है और कौन नहीं?

यह किसी को नहीं मालूम होता है कि अल्लाह सुभान वा’ताला ने नए रिश्तों के लिए क्या कर रखा है?

शादी के लिए इस्तिखारा की दुआ – Shadi Ke Liye Istikhara Ki Dua, Wazifa, Amal, Tarika, Upay, Tariqa

ये सब सवाल शादी में देरी से जुड़े हुए हैं। अगर आप भी अपनी मनपसंद शादी को लेकर कश्मकश में हैं या फिर कोई सही रिश्तों को नहीं तय कर पा रहे हैं तो नीचे बताए गए तरीके से शादी के लिए इस्तखारा की दुआ करें। ऐसा कर आप उपयुक्त रिश्ते को ख्वाब में देख सकते हैं।

  • लड़का हो या फिर लड़की शादी के लिए इस्तखारा करने के वास्ते पाक-साफ होकर दुआ करनी चाहिए। अगर इस्तखारा काई लड़की करना चाहे तो इसकी शुरूआत माहवारी के खत्म होने के बाद करना चाहिए।
  • इसे करने के लिए सोने से पहले दो रकत नफिल पढ़ लें। इसकी पहली रकत में सुराह कफिरून का पढ़ें और दूसरी रकत में सुराह इखलास को पढ़ लें।
  • नफिल पढ़ने के बाद इस्खिारा की दुआ करें। फिर जिस शख्स से आपकी शादी की बात चल रही है उसके और उसेके वालिदों का नाम लेकर रिश्ते के बारे में सोचें।
  • अगर आपके एक से ज्यादा रिश्ते आया हो तो सबके बारे में बारी-बारी से विचार करें कि कौन आपके लायक है और कौन नहीं। इस अनुसार रिश्ता तय करें।
  • उसके बाद किबाला यानी जिधर से रिश्ता आया है उसकी तरफ मुंहकर सो जाएं।

मनपसंद शादी के लिए इस्तिखारा

मनपसंद शादी के लिए इस्तिखारा – Manpasand Shadi Ke Liye Istikhara, Dua, Wazifa, Amal, Tarika, Upay, Tariqa, आज हर इंसान चाहता है कि उसकी शादी मनपसंद हो। लड़का हो या लड़की, वे चाहते हैं कि उनकी शादी उसी से हो जिनसे प्यार-मोहब्बत करते हैं।

इसमें आनेवाली अड़चनों को मनपसंद की शादी के इस्तिखारा से दूर किया जा सकता है। इससे पुराने ख्यालात के मां-बाप के विरोध को भी खत्म किया जा सकता है। वैसे इसे बहुत ही ध्यान देकर करने की सलाह दी गई है,

क्योंकि जानकारी के अभाव में इसे करने में गलती होने की आशंका रहती है। इन दिनों इसकी जानकारी और राय-मश्वीरा आॅनलाइन भी हासिल की जा सकती है। सही तरीका इस प्रकार हैः-

Manpasand Shadi Ke Liye Istikhara

  • सोने से पहले सबसे पहले नमाज को पढ़ें। फिर तीन बार दारूद शरीफ को पढ़ें। उसके बाद र्कुआन-ए-पाक में दिए गए पसंद की शादी की दुआ अल्हामुदुल्लिलाह को 1001 बार पढ़ें।
  • उसके बाद दो या चार रकत नफिल नमाज पढ़ें। फिर सुराह निसा को 36 बार पढ़ लें।
  • अंत में दारूद शरीफ को एकबार फिर से तीन मर्तबा पढ़कर सो जाए या फिर आधे घंटे लिए शादी किए जाने वाले शख्स की तस्सबुर करते हुए मन को सुकून में बना लें।
  • इसे करने की कोई निर्धारित मियाद नहीं है, लेकिन सात, 11 या फिर 21 दिनों तक लगातार किया जाना चाहिए।
  • अगर कोई लड़की इसे करती है तो वह माहवारी के दिन नहीं करे।
  • इस इस्तखारा को वालिद भी अपने संतान की मनपसंद शादी के लिए कर सकते हैं।

शादी कब होगी इस्तिखारा कैसे जानें

शादी कब होगी इस्तिखारा कैसे जानें – Shadi Kab Hogi Istikhara Se Kaise Jane, शादी होने के बारे में किया जाने वाला इस्तिखारा के तरीके पर विशेष ध्यान दिया जाना जरूरी है। भविष्य के लिए इस्तिखारा करने का सही निम्नलिखित हैः-

Shadi Kab Hogi Istikhara Se Kaise Jane

  • सबसे पहली सलाह कहें या हिदायत मानें कि इसे बुध की रात के वक्त सोने से पहले किया जाता है।
  • दूसरी हिदायत इस्तिखारा करने वाली लड़की के लिए है, जो इसे करना चाहते हैं। उन्हें माहवारी के दौरान इसे करने से सख्त मनाही की गई है।
  • तीसरी हिदायत है कि जिससे निकाह करने का इरादा है, तो उसे पैगाम देने या बात करने का जिक्र किसी से भी नहीं करें।
  • सोने से पहले एकबार फिर से पाक-साफ होकर ताजा वजु बना लें और घर में सुकून वाले स्थान पर साफ चादर बिछाकर बैठ जाएं।
  • रात को सोने से पहले वजू कर दारूदे शरीफ को 11 दफा पढ़ने के बाद दो रकत तहिय्याल-उल-बुदु अदा कर लें।
  • फिर सात मर्तबा आलम नशराह को पढ़ें। उसके बाद एकबार फिर से दारूदे शरीफ को पढ़ें और सीधे करवट लेकर सो जाएं।
  • नमाज पढ़ने के बाद तस्बीह पढ़ें जो भी याद हो जैसे कि अल्लाह हु अकबर, सुभान अल्लाह, अल्हामदुलिल्लाह, या रहीम सर करिम को पूरे लिए से शिद्दत के साथ पढ़ंे।
  • इस तरीके को लगतार सात दिनों तक अपानाएं और जिससे निकाह के लिए अल्लाह ताला से दुआ करनी है उसका तस्सबुर करें। सोने के बाद कुछ समय में ही वह शख्स मन-मस्तिष्क में नजर आ सकता है। अगर इस तरह का सात दिनों के दौरान कोई चिन्ह नहीं दिखे तब दुआ के तरके के 11 दिनों तक करना चाहिए।

नाम से मोहब्बत की शादी का इस्तिखारा

नाम से मोहब्बत की शादी का इस्तिखारा – Naam Se Mohabbat Ki Shadi Ka Istikhara, शादी के लिए हर इंसान को इस्तिखारा करना बहुत जरूरी होता है, क्योंकि शादी एक परिवार और समाज के लिए किया जाने वाला एक ऐसा काम है जिसे सारी जिंदगी निभाया जाता है।

किसी आदमी को अगर बीवी नेक, परहेजदार, मोहब्बत करने वाली और खुशमिजाज होगी तो आने वाली नस्ल भी बेहतर होगी। जिंदगी भी पुरसुकून गुजरेगी।

इसी तरह से किसी लड़की का अगर शौहर नेक, मोहब्बत करने वाला, मेहनती, इमानदार और समझदार होगा तब वह आगे की पीढ़ को भी काफी सुधरा हुआ नसीब होगा।

इसके लिए आपनी पसंद का जीवनसाथी चुनने के लिए उसका नाम लेकर इस्तिखरा करने की सलाह दी गई है। उसका तरीके भी बहुत-कुछ पहले जैसा ही है।

Naam Se Mohabbat Ki Shadi Ka Istikhara

  • इस्तिखारा को कम से कम तीन दिन या फिर अधिक से अधिक 11 दिनों तक ही करना होता है। इसके लिए इंसान का पाक-साफ होना जरूरी है।
  • यह एक तरह से अल्लाह ताला की इबादत है। इबादत कर आल्लाह ताला को अपने पसंद के जीवनसाथी के बारे में नाम लेकर बताना होता है।
  • शादी के लिए इस्तिखारा की नीयत को भी दुरूस्त रखा जाता है। यानी कि अगर कोई किसी से मोहब्बत में पड़ा हो तो पहले इस बात का पता करना जरूरी है कि उसकी मोहब्बत एकतरफा नहीं होनी चाहिए।
  • दो रकत नमाज जफिल, सुरत काफिरून और दरूदे शरीफ आदि पढ़ने के बाद नाम लेकर अल्लाह ताला से इबादत करनी चाहिए।
  • अंत में महबूब या महबूबा का नाम लेकर सो जाना चाहिए। इस दौरन अल्लाहताल के नाम और शादी करने वाले के नाम के सिवाय और कोई बात ध्यान में नहीं आना चाहिए।

Apni shadi zindki ka sabse khubsurat pal hota hai, har kisi ke dil mai shadi ke liye hazaro sapne hote hai. Har insan chahata hai ki uski shadi uski pasand ke ladke ya ladki se ho to iske liye hum laye hai Shadi Ke Liye Istikhara Ki Dua, Wazifa, Amal, Tarika, Upay, Tariqa or Manpasand Shadi Ke Liye Istikhara, Dua, Wazifa, Amal, Tarika, Upay, Tariqa. Iske alawa hum aapko batayege Shadi Kab Hogi Istikhara Se Kaise Jane? or Naam Se Mohabbat Ki Shadi Ka Istikhara.

If you need any type of help and Guidance talks to us without any hesitation. In Sha Allah we will solve your problem.

Enquiry Form

मोहब्बत में कामयाबी का ताबीज

मोहब्बत में कामयाबी का ताबीज


मोहब्बत में कामयाबी का ताबीज – Mohabbat Mein Kamyabi Ka Taweez, Wazifa, Tarika, Dua, Amal, दोस्तों कई बार मोहब्बत मई बहुत सी मुस्किले आती है इन मुस्किलो को ख़तम करने हेतु हम आज आपको मोहब्बत में पागल करने का ताबीज और मोहब्बत हासिल करने का ताबीज बता रहे है. इन्हे मोहब्बत पैदा करने का ताबीज भी कहा जाता है.

Mohabbat Mein Kamyabi Ka Taweez

बहुत से लोग प्यार-मोहब्बत को लेकर बहुत परेशान रहते है। इस दुनिया में हर शख्स अपनी ज़िन्दगी मे सच्चा प्यार पाना चाहता है। लेकिन सच्चा प्यार मिलना आज के जमाने में बहुत मुश्किल है।

अक्सर ऐसा होता है कि जिस व्यक्ति से हम सच्चा प्यार करते है, वे हमारे प्यार के मोल को समझ नहीं पाता। वहीं दूसरे धोखेबाज लोग उसे बहुत प्रिय और अपने लगते है। लेकिन यदि आपका प्यार सच्चा है तो अपने प्यार का अहसास कराने के लिए आप मोहब्बत में कामयाबी का ताबीज की मदद ले सकते है।

मोहब्बत में कामयाबी का ताबीज – Mohabbat Mein Kamyabi Ka Taweez, Wazifa, Tarika, Dua, Amal

इस ताबीज की मदद से आपको अपनी मोहब्बत जरूर मिल जाएगी। मोहब्बत में कामयाबी का ताबीज प्राप्त करने के लिए आप हमसे संपर्क कर सकते है। इसके अलावा आप हमारे द्वारा बताए गए तरीके के अनुसार खुद भी ये ताबीज़ बना सकते है।

मोहब्बत में कामयाबी का ताबीज में हम आपको 18 का नक्श बता रहे है। इस नक्श की मदद से आपको आपकी मोहब्बत में कामयाबी अवश्य मिलेगी। मोहब्बत में कामयाबी का ताबीज के लिए सबसे पहले एक कोरा कागज लें और उसके ऊपर नीचे दिया गया नक्श बना लें।

9 2 7
4 6 8
5 10 13

मोहब्बत में कामयाबी का ताबीज के लिए नक्श के ऊपर 786 लिख दें और नीचे की तरफ अपनी मोहब्बत का नाम लिख दें। इस 18 के नक्श की खासियत ये है कि इसे किसी भी तरफ से जोड़ने पर 18 का अंक ही मिलेगा।

और मोहब्बत में कामयाबी का ताबीज आपको कुछ दिनों तक अपने पास संभालकर रखना होगा। इसे आप अपने गले में पहन सकते है या फिर अपनी जेब या पर्स में भी रख सकते है। मात्र एक सप्ताह के भीतर आपको मोहब्बत में कामयाबी मिल जाएगी।

मोहब्बत में पागल करने का ताबीज

मोहब्बत में पागल करने का ताबीज – Mohabbat Mein Pagal Karne Ka Taweez, Jadu, Wazifa, Tarika, Dua, Amal, हर व्यक्ति की यह तमन्ना होती है कि सामने वाला व्यक्ति उसे देखते ही पसंद कर ले और उसकी मोहब्बत में पागल हो जाए। कुछ लोगों की पर्सनालिटी बहुत दमदार होती है और वे किसी भी शख्स को आसानी से आकर्षित कर लेते है। लेकिन कुछ शख्स की शक्ल-सुरत बहुत ज्यादा सुंदर नहीं होती।

उन्हें लगता है कि वे ज़िन्दगी भर अकेले ही रह जाएंगे। लेकिन यदि आप अल्लाह में विश्वास रखते है तो आपकी हर दुआ जरूर कबूल होगी। यदि आप भी चाहते है कि सामने वाला शख्स आपके प्यार में पागल हो जाए तो एक बार मोहब्बत में पागल करने का ताबीज की मदद अवश्य लें।

Mohabbat Mein Pagal Karne Ka Taweez

मोहब्बत में पागल करने का ताबीज की मदद से आप अपने प्यार या चाहने वालों को आसानी से अपने वश में कर सकते है। यह ताबीज़ आपको लाल रंग की स्याही से बनाना होगा। मंगलवार और शनिवार को छोड़कर आप हफ्ते में किसी भी दिन यह ताबीज़ बनाकर धारण कर सकते है। चलिए मोहब्बत में पागल करने का ताबीज कैसे बनता है, ये जान लेते है-

373 973 473 563
873 223 273 873

एक साफ कागज पर इस ताबीज़ को बनाने के बाद काले कपड़े में इसे लपेटकर अपने दाएं हाथ की भूजा पर बांध लें। इसके बाद जब भी आप उस शख्स के सामने जाएंगे, जिसे आप अपनी मोहब्बत में पागल करना चाहते है, वह आपकी तरफ आकर्षित होने लगेगा। मोहब्बत में पागल करने का ताबीज कोई भी लड़का या लड़की इस्तेमाल कर सकता है।

मोहब्बत हासिल करने का ताबीज

मोहब्बत हासिल करने का ताबीज – Mohabbat Hasil Karne Ka Taweez, Jadu, Wazifa, Tarika, Dua, Amal, Hindi, Urdu, आजकल के समय में एक बात बेहद आम हो गई है कि गर्लफ्रेंड-बॉयफ्रेंड और मियां बीवी के रिश्तों के बीच में भी मोहब्बत नहीं है। ऐसे बहुत से लोग है जो बिना प्यार मोहब्बत के ही अपने रिश्ते को चलाए जा रहे है।

लेकिन आपको बता दे कि जिन रिश्तों में प्यार नहीं होता वे रिश्ते ज्यादा दिन तक नहीं चल सकते। फिर भले ही वह रिश्ता पति-पत्नी का क्यों ना हो। ऐसे लोग अपने रिश्ते में प्यार डालने के लिए मोहब्बत हासिल करने का ताबीज का इस्तेमाल कर सकते है।

इस ताबीज़ की मदद से आप अपने बंजर रिश्ते को एक खिलते हुए गुलाब के फूल में तब्दील कर सकते है। चलिए मोहब्बत हासिल करने का ताबीज जान लेते है।

Mohabbat Hasil Karne Ka Taweez

  • मोहब्बत हासिल करने का ताबीज हम जो बताने जा रहे है, उसे मोहब्बत में रोटी का ताबीज भी कहा जाता है। यह ताबीज आपको कागज की बजाय रोटी के टुकड़ो पर बनाना होगा। मोहब्बत हासिल करने का ताबीज बनाने के लिए आपको रोटी के 13 टुकड़े लेने होंगे। इन टुकड़ो पर आपको यह नंबर क्रम से लिखने होंगे- 11,7,19,13,15,8,61,41,22,3,8,5,10
  • यह कुल 13 नंबर है, जो आपको 13 रोटी के टुकड़ो पर लिखने है। मोहब्बत हासिल करने का ताबीज बनाने के लिए आप हल्टी या फिर खाने वाले रंग का इस्तेमाल कर सकते है। इसके बाद आपको यह रोटी किसी कुत्ते को खिला देनी है।

ध्यान रहें यदि कोई महिला मोहब्बत हासिल करने का ताबीज बना रही है तो वह नर कुत्ते को यह रोटी खिलाएं। और अगर कोई पुरूष यह ताबीज़ बना रहा है तो उसे मादा कुतिया को यह रोटी खिलानी होगी। मोहब्बत पैदा करने का ताबीज का यह वजीफा आपको तीन दिन तक अपनाना होगा।

मोहब्बत पैदा करने का ताबीज

मोहब्बत पैदा करने का ताबीज – Mohabbat Paida Karne Ka Taweez, Jadu, Wazifa, Tarika, Dua, Amal, Hindi, Urdu, अक्सर लोग हमसे मोहब्बत पैदा करने का ताबीज के बारे में पूछते रहते है। उन्हें लगता है कि एक ताबीज़ बनाकर वह किसी के भी मन में अपने प्रति मोहब्बत पैदा कर सकते है।

लेकिन आपको बता दे सामने वाले व्यक्ति के मन मोहब्बत पैदा करने के लिए आपके मन में भी उसके लिए सच्चा प्यार होना जरूरी है। कुछ लोगमोहब्बत पैदा करने का ताबीज का गलत इस्तेमाल करना चाहते है।

वे लोग केवल शारीरिक संबंध बनाने या फिर किसी से बदला लेने के लिए इन ताबीज़ का इस्तेमाल करते है। ऐसे लोगों को अल्लाह ताला खुद सजा देते है और उन्हें अच्छा सबक सिखाते है।

Mohabbat Paida Karne Ka Taweez

मोहब्बत पैदा करने का ताबीज और अन्य इसी तरह के ताबीज़ इस्लामिक वजीफों और आयतो के जरिए बनाए जाते है, इसीलिए इसका कभी भी गलत इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

ताबीज़ का इस्तेमाल हमेशा जायज मकदस से ही करना चाहिए। साथ ही मोहब्बत पैदा करने का ताबीज बनाने से पहले मौलवी साहब से इजाजत लेना भी जरूरी है। जब भी आप कोई ताबीज़ धारण करें तो उस दरमियान वुज़ू में रहना बहुत जरूरी है।

साथ ही मोहब्बत पैदा करने का ताबीज के इस्तेमाल के दौरान पाँचों वक्त नमाज़ की पाबंदी भी जरूरी होती है। यदि आपने इतना काम कर लिया तो इंशाल्लाह आपको मोहब्बत में कामयाबी और खुशी दोनो मिल जाएगी।

Doston kai baar mohabbat mai kai tarha ki muskile khadi ho jati hai or inhi muskilo ko puri tarha se khatam karne ke liye aaj hum aapko Mohabbat Mein Kamyabi Ka Taweez, Wazifa, Tarika, Dua, Amal or Mohabbat Mein Pagal Karne Ka Taweez, Jadu, Wazifa, Tarika, Dua, Amal bata rahe hai. inhe Mohabbat Hasil Karne Ka Taweez, Jadu, Wazifa, Tarika, Dua, Amal, Hindi, Urdu ya Mohabbat Paida Karne Ka Taweez, Jadu, Wazifa, Tarika, Dua, Amal, Hindi, Urdu bhi kaha jata hai.

If you need any type of help and Guidance talks to us without any hesitation. In Sha Allah we will solve your problem.

Enquiry Form

तरक्की पाने का वजीफा

तरक्की पाने का वजीफा


तरक्की पाने का वजीफा – Tarakki Pane Ka Wazifa, Dua, Amal, Upay, Tarika, Istikhara, हर कोई अपने व्यापार मे नौकरी मे तरक्की करना चाहता है, यदि किसी कारन से आप को लगता है की आपकी तरक्की रुकी हुए है तो हम लाये है नौकरी में तरक्की का वजीफा और कारोबार में तरक्की का वजीफा। इसे मुलाज़मत में तरक्की का वजीफा भी कहते है.

Tarakki Pane Ka Wazifa

हर कोई अपने जीवन पथ में आगे बढ़ना चाहता है लेकिन बहुत कम लोग सफल होते हैं। कई बार देखने में आता है कि हम कड़ी मेहनत करते हैं लेकिन फिर भी तरक्की नहीं मिलती है। यह सवाल मन में उठता है कि मैं अपना सपना क्यों और कब पूरा करूंगा?

तरक्की पाने का वजीफा – Tarakki Pane Ka Wazifa, Dua, Amal, Upay, Tarika, Istikhara

ऐसी स्थिति में हमें क्या करना चाहिए जिससे हमें तरक्की मिल सके? ताकि अगर आप किसी कार्य में हमेशा असफल हो रहे हैं तो आप इस्लामी उपाय की मदद से तरक्की प्राप्त कर सकते हैं। यह लेख आपको जीवन पथ में तरक्की पाने के लिए आपको क्या करना चाहिए, इसका मार्गदर्शन करेगा।

तरक्की पाने का इस्लामी वजीफा की विधि-

  • मन की शांति, संतोष, खुशी और व्यग्रता और चिंता से मुक्ति… ये वही हैं जो हर कोई चाहता है, और ये ऐसे तरीके हैं जिनसे लोग एक अच्छा जीवन जी सकते हैं और पूर्ण खुशी और आनंद पा सकते हैं।
  • इसे प्राप्त करने के इस्लामिक साधन मौजूद हैं, और प्राकृतिक और व्यावहारिक साधन भी मौजूद है| लेकिन जिन लोगों को अमलों और वजीफों पर एतबार हों, वही इन सभी साधनों को जोड़ सकता है|
  • प्रतिदिन दिन में 3 बार दारुदे-शरीफ को पढ़ें इसके बाद गजल-दारुद को पढे| रात को सोते समय कुराने-आयात को पढे और बिस्मिल्लाह पढ़ कर खुदा को धन्यवाद कर सोये|
  • यदि आप भी अल्लाह-ताला पर विश्वास करते हैं, तो तरक्की पाने के लिएऊपर दिये हुए वजीफ़ा को आजमाए| इंशाहअल्लाह आपको तरक्की अवश्य मिलेगी|
  • ऊपर दिये हुए वजीफा को आपको रोज अपने नमाज़ के बाद कम से कम 22 मर्तबा पढ़ना होगा| इस वजीफा को पढ़ने का आप आदत डाल ले क्यूंकी यह आपके तरक्की के रास्ते में आ रही हर बाधा को ख़त्म करने वाला वजीफा हैं|

मुलाज़मत में तरक्की का वजीफा

मुलाज़मत में तरक्की का वजीफा – Mulazmat Main Taraqi Ka Wazifa, Dua, Amal, Upay, Tarika, Istikhara, यदि आप कहीं नौकरी करते हैं और आप चाहते हैं कि आपको अपने ऑफिस में मुलाज़मत में आपकी तरक्की हों, आपका ओहदा बढ़ जाए, तोइस उद्देश्य को प्राप्त करने के साधनों का सारांश इस प्रकार है जिसके लिए हर कोई प्रयास कर रहा है,उस चीज के लिए आपको कुछ अलग सा मामला आजमाना होंगा।

कुछ मामलों में, उनमें से कई लोग जोइसे हासिल करते हैं वे एक खुशहाल जीवन और एक अच्छा जीवन जीएंगे; अन्य मामलों में, जो लोगइन सभी को प्राप्त करने में विफल रहते हैं, वे दुख और कठिनाई का जीवन व्यतीत करेंगे।

Mulazmat Main Taraqi Ka Wazifa

और कुछ ऐसे भी हैं जो नीचे दिये हुए वजीफा का इस्त्माल कर, जो बीचके साधनों में से हैं, अपने मनमुताबिक मुलाज़मतप्राप्त करने में सक्षम हैं। इन साधनों में निम्नलिखित शामिल हैं:

1 विश्वास और नेक काम:

यहवजीफा के साधनों का सबसे बड़ा और सबसे मौलिकहथियार है। अल्लाह कहता है (अर्थ की व्याख्या):”जो कोई भी धार्मिकता का काम करता है – चाहे वह पुरुष हो या महिला – जबकि वह (या वह) एक सच्चा आस्तिक (इस्लामिक एकेश्वरवाद) है, वास्तव में, हम उसे एक अच्छा जीवन देंगे (इस दुनिया में सम्मान, संतोष और कानून के प्रावधान के साथ), और हम निश्चित रूप से वे जो कुछ भी करते थे (यानी उसके बाद के स्वर्ग में) के अनुपात में उन्हें एक इनाम देना होगा।“

[अल-नहल 16:97]

अपनी रजा के लिए आप अल्लाह कि सेवा करे, उसके बंदो की सेवा करे, फकीरो को दान दे और पाँच वक्त का नमाज़ प्रतिदिन किसी भी सुरते-हाल में पढे|
अल्लाह हमें बताता है और हमसे वादा करता है कि जो कोई भी धर्मों के साथ विश्वास करता है, उसका इस दुनिया में और उसके बाद एक अच्छा जीवन और अच्छा इनाम मिलेगा।
वजीफा में बताए हुए अल्लाह-ताला के रास्ते पर चल कर आप को अपनी मंजिल जरूर मिल जाएगी|

नौकरी में तरक्की का वजीफा

नौकरी में तरक्की का वजीफा – Naukri Mein Taraqi Ka Wazifa, Dua, Amal, Upay, Tarika, Istikhara, Tarakki, यदि नौकरी कर रहे हैं तो आप इस बात को अच्छी तरह से समझते हैं कि नौकरी में तरक्की पाना आज की तारीख में कितना मुश्किल काम है|

आज लगभग हर दफ्तर और कार्यालय की स्थिति ऐसी है जहां बहुत सारे षड्यंत्र का हमें प्रतिदिन सामना करना पड़ता है| ऐसे माहौल में खुद को स्थिर रखते हुए नौकरी के प्रेशर को झेलना और इसमें तरक्की पाने का ख्वाब बहुत ही मुश्किल सा प्रतीत होता है|

जो लोग अपना प्रमोशन ना होने से परेशान है या किसी अन्य कंपनी में अच्छी पोस्ट पर जाने का मन बना रहे बना रहे हैं उनके लिए यह दुआ बेहद लाभकारी है| इसके अलावा यदि बॉस से आप की नोकझोंक हो गई है और गुस्से में आकर आपने अपने तरक्की के द्वार बंद कर दिए हैं तो भी आप इस वजीफा से को आजमा सकते हैं|

Naukri Mein Taraqi Ka Wazifa

“ओ मेरे खुदा मेरे फर्ज का कुछ तो बरकत दें, तू सब से बड़ा रहनुमा हैं, तू ही बंदों की राजा पूरी करने वाला हैं, मेरी भी सुन और मेरा भी नैया पार लगा|”

इस वजीफ़ा को पढ़ने का स्पष्ट कारण है: जो लोग अल्लाह पर विश्वास करते हैं – ईमानदारी से विश्वास के साथ जो उन्हेंनेक कामों को करने के लिए प्रेरित करता है| जो दिल और दृष्टिकोण को बदलते हैं और उन्हें इस दुनिया में सीधे रास्ते पर ले जाते हैं- उसके दुआ के असर से आपको जीवन के हर क्षेत्र में सफलता मिलेगी फिर चाहे वो नौकरी ही क्यूँ ना हों|

इस वजीफ़ा को करनेके बाद,आप उन सिद्धांतों और दिशानिर्देशों का पालन करते हैं,जो आपको इस वजीफ़ा को करने से पहले निर्देशित किया जाता हैं|इन निर्देशों और वजीफ़ा के साथआपनौकरी मे अपने साथ होने वाली हर चीज से निपटते हैं|यह वजीफ़ा आपके लिए खुशी और उत्साह का कारण बनता हैं|

कारोबार में तरक्की का वजीफा

कारोबार में तरक्की का वजीफा – Karobar Main Taraqi Ka Wazifa, Taweez, Barkat, Dua, Amal, Upay, Tarika, Istikhara, Tarakki, कारोबार एक ऐसी चीज हैं, जिसमे आपको फायदा ही होगा इसकी कोई गैरंटी नहीं दे सकता हैं|क्यूंकी कारोबार को करते हुए हमबुरी चीजों, चिंताओं और संकटों से निपटते हैं|यदि हम इन संकटों से उबर कर कारोबार को फायदा के राह पर ले जाने में कामयाब होते हैं,

तो इसके लिए हम अल्लाह-ताला कोधन्यवाद देते हैं, औरअपने इस हुनर के अच्छे तरीकोंका सही उपयोग करते हैं।परंतु हर बार ऐसा नहीं होता हैं| यदि आपका कारोबार आपको घाटे का सौदा दे रहा हैं,तो इसमें तरक्की पाने के लिए आप नीचे दिये हुए वजीफ़ा को आजमाए:-

अल्लाह के पैगंबर (अल्लाह की शांति और आशीर्वाद उस पर) ने एक साहेब हदीस (प्रामाणिक रिपोर्ट) में व्यक्त किया जिसमें उन्होंने कहा:
“आस्तिक की स्थिति कितनी शानदार है, उसके लिए सभी मामले अच्छे हैं। यदि आप नेकी कर के दरिया में डालते हैं,तोअल्लाह-ताला इसके लिए धन्यवाद देता है और यह उस बंदे के लिए अच्छा है; और अल्लाह-ताला आपके आगे की राह को बाधा-रहित बनाता हैं|”(मुस्लिम, सं 2999 द्वारा वर्णित)।

Karobar Main Taraqi Ka Wazifa

पैगंबर द्वारा कहे इस वचन को हमें रोज सुबह शाम ईशा और फर्ज के नमाज़ के बाद 3 मर्तबा दुहराना हैं| इस वजीफ़ा को पढ़ने के बाद दोनों हाथ उठा कर अल्लाह-ताला से ढ़ेर सारे दुआ करे| रब को उसकी नेमत के लिए धन्यवाद दे|
इस वजीफ़ा को एक महिना तक लगातार दुहराने से आपका बंद पड़ा कारोबार भी फायदे का बिजनेस करने लगेगा|
बस अपने रब पर भरोसा रखे और उसके दिखाये हुए राह पर चले, सफलता आपके कदम को चूमेगी|
जब आप इस तरीके से पेश आते हैं, तोयहआप में उत्साह की भावना पैदा करता हैऔरइसके लिए आप को अल्लाह द्वारा पुरस्कृत किया जाएगा, जो आपके लिए होने वालीकिसी भी अच्छी चीजों की तुलना में अधिक महत्वपूर्ण है।

नबी (सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम) ने हमें बताया कि आस्तिक व्यक्ति हमेशा लाभ उठाता है और अपने कर्मों का फल हमेशा मिलता है, चाहे उसके साथ कुछ भी हो, अच्छा हो या बुरा।

Har insan apne rozgar mai Taraqi karna chahata hai, parantu kai baar yadi aap ko lagta hai ki aapke kisi bhi tarha ke rozgar mai Taraqi nahi ho rahi to istemal kare hamari Tarakki Pane Ka Wazifa, Dua, Amal, Upay, Tarika, Istikhara or Mulazmat Main Taraqi Ka Wazifa, Dua, Amal, Upay, Tarika, Istikhara. ise Naukri Mein Taraqi Ka Wazifa, Dua, Amal, Upay, Tarika, Istikhara, Tarakki ya Karobar Main Taraqi Ka Wazifa, Taweez, Barkat, Dua, Amal, Upay, Tarika, Istikhara, Tarakki bhi kaha jata hai.

If you need any type of help and Guidance talks to us without any hesitation. In Sha Allah we will solve your problem.

Enquiry Form

लड़की को अपनी तरफ मेल करने का वज़ीफ़ा

लड़की को अपनी तरफ करने का वज़ीफ़ा


लड़की को अपनी तरफ मेल करने का वज़ीफ़ा – Ladki Ko Apni Taraf Mail Karne Ka Wazifa, Dua, Amal, Taweez, Istikhara, Ilm, Tarika, Upay, यदि आप किसी लड़की को चाहते है और वो लड़की का या तो आपको नहीं पता और या वो आपसे प्यार नहीं करती परन्तु आप उस को अपना बनाना चाहते है तो हम लाये है लड़की को अपनी ओर आकर्षित करने की दुआ या लड़की को अपनी मोहब्बत में पागल करने का वज़ीफ़ा। इसे ही किसी लड़की को अपना बनाने का वज़ीफ़ा भी कहा जाता है.

Ladki Ko Apni Taraf Mail Karne Ka Wazifa

लड़के द्वारा की जाने वाली सच्ची मोहब्बत तभी मुकम्मल मुकाम पर पहुंच सकती है यादि लड़की भी उसी लड़के से प्यार करे। वरना वैसी मोहब्बत एकतरफा बनकर रह जाती है।

प्यार-मोहब्बत में लड़का-लड़की के बीच का आकर्षण बराबर का होना चाहिए। उसमें संतुलन बना रहना चाहिए। यदि इसमें कमी आ जाए तब अल्लाह की तहे दिल से इबादत करनी चाहिए।

लड़की को अपनी तरफ मेल करने का वज़ीफ़ा – Ladki Ko Apni Taraf Mail Karne Ka Wazifa, Dua, Amal, Taweez, Istikhara, Ilm, Tarika, Upay

अगर लड़की मोहब्बत करने वाले लड़के को नजरांदाज करे तब लड़के को चाहिए कि वह उसे अपनी तरफ मेल करने का वजीफा प्रयोग में लाए। र्कुआन में दिए गए आयत के जरिए नजदीकियां बढ़ाने और प्रेम को प्रगाढ़ बनाने में मदद मिलती है। वह आयत है-

बा हकीकी ला इलाहा इल्लिला अंता सुब्हानाक इन्नी कुण्टू मिनाज जलिमिन। या यय्यिदल कदीमी बी-हुर्मती बिस्मिल्ला हीर रहमान नीर-रहीम। अम्मान युजीबू अल मुद तर्रा ईशा दाहू इन कफेना कल मुस्तह्जीऊं। या हप्पु या कयूम बिराहमतिक अस्ताघीसू। अल्लाह हम्म साहिल वायस्सिर रबी ला तैयार ने फरदान वा अंत खैर उल वारेसेन। हास्बि आंसू आली इलमुका बिहाली सुभानल काहेरील कादेरील काफी।

लड़की को अपनी ओर मेल करने के लिए लड़के द्वारा इस आयत के वजीफे को कुल 41 दिनों प्रतिदिन 141 मर्तबा पढ़ना चाहिए।
इसे पढ़ने से पहले महबूबा का तस्सबूर करते हुए आयत से पहले और अंत में दुरूद-ए-इब्राहिम को 7 बार पढ़ना चाहिए।
इसकी शुरूआत किसी भी दिन से की जा सकती है, लेकिन फजर की नमाज के बाद सुबह 9 बजे तक बजीफे को पूरा कर लिया जाना चाहिए।

लड़की को अपनी ओर आकर्षित करने की दुआ

लड़की को अपनी ओर आकर्षित करने की दुआ – Ladki Ko Apni Or Aakarshit Karne Ki Dua, Wazifa, Amal, Taweez, Istikhara, Ilm, Tarika, Upay, प्रेम की शुरूआत लड़की के प्रति आकर्षण से होती है, लेकिन लड़की का भी आकर्षण होना भी जरूरी है। यदि ऐसा नहीं है तब इसके इस्लामी दुआ का अमल करना चाहिए। र्कुआन-ए-पाक में एक बहुत ही महत्वपूर्ण आयत दी गई है,

जिसे नियमित रूप से मात्र 11 दिनों तक पूरी शिद्दत के साथ पढ़ी जाए तो लड़की को आकर्षित किया जा सकता है। यह एक तरह का चमत्कारी अमल है, जो अल्लाह ताला की इबादत से हासिल होता है। इसे पढ़ने के तरीके निम्न तरह के हैं-

Ladki Ko Apni Or Aakarshit Karne Ki Dua

  • इसकी शुरूआत किसी भी दिन से की जा सकती है, लेकिन समय सुबह का होना चाहिए।
  • घर के किसी सुकून वाले स्थान पर साफ चादर बिछाएं। ताजा वजू करें और फजर की नमाज पढ़ने के बाद 21 मर्तबा सुराह फतेह को पढ़ें।
  • उसके बाद दरूदू-ए-पाक को 11 बार पढ़ें और फिर नीचे दिए गए आयत को कुल 141 बार पढ़ें। आयत है-
  • बिस्मिल्लाह हिर रहमान इरे रहीम अलमीड़ा लिल्लाहि रबीउल आलमीन। अर रहमान इर रहीम मलिकी यावमद दीं इत्य्याक न बुदु वा, लय्याक नस्तईन इहदिनास सिरातल मुस्तकीम सिरातल लाजिन अनामत अलैहीम घायरिल मगदुबि अलैहिम वा लाद द्वाल्लीन।
  • इसे महबूबा का तस्सबुर करते हुए पढ़ा जाना चाहिए। अंत मंे एक बार फिर से दरूदू-ए-पाक को 11 बार पढ़ने के बाद अल्लाह ताला से दोनों हाथ फैलाकर लड़की के मन में आकर्षण के भाव जागृत करने की दुआ करें।
  • यह दुआ खुशियां बढ़ाने के साथ-साथ अपनापन की भावना को जगा देता है।

लड़की को अपनी मोहब्बत में पागल करने का वजीफा

लड़की को अपनी मोहब्बत में पागल करने का वजीफा – Ladki Ko Apni Mohabbat Me Pagal Karne Ka Wazifa, Amal, Taweez, Istikhara, Ilm, Tarika, Upay, Dua, सच्चे प्रेमी का ईश्वर भी मदद करते हैं। अगर र्कुआन-ए-पाक में दिए गए आयत को सही नियम और नीयत के साथ पढ़ा जाए तो लड़की के दिल में बेइंतहा मोहब्बत पैदा की जा सकती है।

यह कहें कि वजीफे की बदौलत लड़की को फूंक मारकर प्यार में पागल बनाया जा सकता है। मौलवी से राय-मश्वीरा लेकर अपनाया जाने वाला सिलसिलेवार तरीक इस प्रकार हैः-

Ladki Ko Apni Mohabbat Me Pagal Karne Ka Wazifa

  • लड़की की साफ चेहरा दिखने वाली तस्वीर अपने साथ रखें। अगर मोबाइल में उसकी तस्वीर हो तो उसे भी साथ रख सकते हैं।
  • फजर की नमाज पढ़ने की तैयारी करें। घर के एकांत में साफ चादर बिछाएं। वजू बनाएं। फोटो को अपने सामने रख दें और 11 बार दुरूदे शरीफ प़ढ़ें।
  • फिर 21 बार सुराहे फतीहा पढ़ें। उसके बाद तस्वीर को देखते हुए जी जमीओ, सर जमीओ को 101 बार पढ़ें।
  • अंत में 11 बार फिर से दुरूदे शरीफ को प़ढ़़कर तस्वीर पर फूंक मारें। इस प्रयोग को सात दिनों तक करने में ही कामयाबी मिल जाएगी।
  • इसे पढ़ने की शुरूआत मंगलवार या शानिवार के दिन छोड़कर करनी चाहिए, किंतु समय सुबह के सात बजे का होना जरूरी है।
  • अगर इसका असर नहीं दिखे तब मोहब्बत में दीवाना बनाने का वजीफा – ‘अल्लहुम्मा जाॅनी मेहबूब इन फि मिलते बइहाकी या बुदूहू या बुदूहू’ को भी 21 दिनों तक लगातार 1000 बार इशा की नमाज के बाद सोने से पहले पढ़ा जा सकता है।
  • इसके पहले और अंत में दुरूदे पाक को 11-11 बार पढ़ना चाहिए। साथ ही अल्लाह ताला से महबूबा की सलातमी के लिए दुआ मांगनी चाहिए और अपनी सच्ची मोहब्बत का इजहार करना चाहिए।

किसी लड़की को अपना बनाने का वजीफा

किसी लड़की को अपना बनाने का वजीफा – Kisi Ladki Ko Apna Banane Ka Wazifa, Amal, Taweez, Istikhara, Ilm, Tarika, Upay, Dua, मोहब्बत में किसी लड़की को अपना बनाने के लिए सबसे पहले उसके दिल में जगह बनानी पड़ती है। यह लड़की का दिल जीतकर ही संभव है। ऐसा करने के लिए मोहब्बत में पड़ा लड़का तरह-तरह के तरीके अपनाता है। उसकी पसंद के उपहार भेंट करता है।

फिर भी बात नहीं बनने की स्थिति में अपना बनाने का वजीफा पढ़ना चाहिए। नीचे दिए गए वजीफे को पढ़ने से पहले उसके अल्फाज को कंठस्थ कर लेना चाहिए।

Kisi Ladki Ko Apna Banane Ka Wazifa

  • वजीफा है- वल्लाहू गालिबुन अला अमरिही कद श-ग-फहा हुब्बा हुब्बान अला हुबुल खैर ला शदीद।
  • नेक नीयत से इसकी शुरूआत जुम्मे के दिन रात को दस बजे के बाद इशा की नमाज पढ़ने के साथ प्रतिदिन 10 दिनों तक करना चाहिए।
  • घर मंे अपने कमरे में साफ चादर बिछाएं और पाक-साफ होकर ताजे वजु के साथ बैठ जाएं। नमाज अदा करें फिर दरूदे इब्राहिम या दरूदे शरीफ को 11 दफा पढ़ लें। इसे इतनी ही बार आयत को पढ़ने के बाद पढ़ा जाता है।
  • उसके बाद र्कुआन-ए-पाक की पहली सूरत सौराह फतिहा को 101 बार पढ़ लें। फिर सूरत सौराह इखलास को भी 101 बार पढ़ लें।
  • उसके बाद लड़की नाम लेते हुए ऊपर बताए गए वजीफे को 1000 बार पढ़ें।
  • इसे लगातार दस दिनों तक पढ़ना है, लेकिन एक सप्ताह बीतते-बीतते लड़की स्वतः प्रेम प्रकट कर देगी। उसके दिल में न केवल मिलने की बेकरारी के भावना की अलख लग जाएगी, बल्कि भागी-भागी मिलने के लिए भी आ सकती है। ध्यान रहे इस वजीफे का इस्तेमाल चालबाजी से किसी को मोहब्बत में फंसाने के लिए नहीं किया जाना चाहिए।

Yadi aap kisi ladki se pyar karte hai or ya to batane se sarte hai ya aap ko us ladki ka nahi pata or ya wo aap se pyar nahi karti to hum aapko batayege Ladki Ko Apni Taraf Mail Karne Ka Wazifa, Dua, Amal, Taweez, Istikhara, Ilm, Tarika, Upay or Ladki Ko Apni Or Aakarshit Karne Ki Dua, Wazifa, Amal, Taweez, Istikhara, Ilm, Tarika, Upay. Inko log Ladki Ko Apni Mohabbat Me Pagal Karne Ka Wazifa, Amal, Taweez, Istikhara, Ilm, Tarika, Upay, Dua or Kisi Ladki Ko Apna Banane Ka Wazifa, Amal, Taweez, Istikhara, Ilm, Tarika, Upay, Dua bhi kahate hai.

If you need any type of help and Guidance talks to us without any hesitation. In Sha Allah we will solve your problem.

Enquiry Form

वीजा लगने का वजीफा

वीजा लगने का वजीफा


वीजा लगने का वजीफा – Visa Lagne Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Upay, Tarika, किसी दूसरे देश मे किसी भी काम के लिए जाने पर हमें वहा का वीसा लेना पड़ता है, परन्तु कई कारणवश हमें वीसा या तो मिलता नहीं या वीसा लेने मैं बहुत सी समस्याओं का सामना करना पड़ता है और वो भी समय पर नहीं मिलता, इस कारन के समाधान के लिए आज हम आपको वीजा हासिल करने का वजीफा और वीजा जल्दी आने का वजीफा बता रहे है. इसके अलावा हम आज आपको वीजा के लिए सूरह इखलास का वजीफा भी बतायेगे।

Visa Lagne Ka Wazifa

हमारे देश के लोगों की विदेशों में काम करने और वहां बसने की बहुत इच्छा है। लेकिन लाख संघर्षों के बाद भी कितने लोगों के लिए इस ख्वाब का पूरा होना ख्वाब ही रह जाता हैं| बहुत से लोग विदेश जाने के अपने सपने को केवल इसलिए पूरा नहीं कर सकते हैं, क्यूंकी उनका वीजा नहीं लगता हैं।

वीजा लगने का वजीफा – Visa Lagne Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Upay, Tarika

आप जानते है वीजा के लिए भी हमें एक लंबी प्रक्रिया से गुजरना होता हैं, जिसमें फॉर्म भरने से लेकर व्यक्तिगत इंटरव्यू तक शामिल हैं| इस प्रक्रिया में कई बार अधिकारी हमारे किसी जवाब से संतुष्ट नहीं होते हैं, तो वो हमारे वीजा के फॉर्म को रिजेक्ट भी कर देते हैं| आज हम इस लेख में वीजा लगने के इस्लामी उपाय के बारे में चर्चा करेंगे|

वीजा लगने का वजीफा

विदेश जाने के लिए वीजा प्रक्रिया सम्पन्न करने के लिए निम्नलिखित उपाय करने चाहिए: –

  • एक बोतल में शहद भरें और उसे कुराने पाक के सामने रखें। उसके बाद इस वजीफा का 100 बार पाठ करें: –
  • “मेरे अल्लाह इस कायनात में यदि मैंने कोई नेकी की हैं, तो इसका सिला मुझे दे मेरी पैरवी को तू लगा मेरी दुआओं को काबुल कर|”प्रत्येक शनिवार को सुरते-नसरीन का पाठ करें। ऐसा करने से, आपके पास विदेश यात्रा करने के लिए आसानी से वीजा प्राप्त हों जाएगी|
  • चांदी या तांबे के बर्तन में पानी पिएं, कांच के कंटेनर में नहीं। इससे विदेश यात्रा की रुकावटें दूर होती है।
  • नदी के नहर में तांबे के सिक्के डालने से विदेश जाने की प्रबल संभावनाएं बनती हैं।अगर आप विदेश जाना चाहते हैं, तो इस्लामिक धार्मिक कार्यों में दान करें|
  • जब भी आप वीजा का फॉर्म भरने जा रहे हो, तो घर से कुराने-पाक के आयात 148 को तीन दफा पढ़ कर निकले| ऐसा करने से आपके वीजा प्रक्रिया में किसी भी प्रकार की कोई रुकावट नहीं आएगी और आपका काम भी आसानी से हों जाएगा|

वीजा हासिल करने का वजीफा

वीजा हासिल करने का वजीफा – Visa Hasil Karne Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Upay, Tarika, इस्लामी वजीफों और दुआओं का पृथ्वी और जन्नत निकायों की घटनाओं के बीच सहसंबंध के बारे में ज्ञान का आह्वान करता है। यह आपके मनोविज्ञान, संबंध और पैटर्न को समझने में मदद करता है।

विदेश योग में वजीफा और दुआ एक महत्वपूर्ण शब्द है। विदेश योग में वजीफा या दुआ विदेश की यात्रा करने के लिए आपकी संभावना का प्रतिनिधित्व करता है।आइये जानते हैं वीजा हासिल करने के लिए कौन सा वजीफा आजमानी जानी चाहिए|

वीजा हासिल करने का वजीफा

भारत में अधिकांश लोग एक उज्ज्वल कैरियर स्थापित करने के लिए एक विदेशी देश में बसने का सपना देखते हैं। उनका ब्राइट करियर उनके जीवन का आनंद उठाने में उनकी मदद करेगा।

क्या आप भी ऐसे ही एक व्यक्ति बनना चाहते हैं? लेकिन, आप वीज़ा समस्या के कारण अपने गंतव्य तक नहीं पहुँच सकते? दुखी मतहोना और इस वजीफा को आजमा कर अपने ख्वाब को पूरा करे:-

Visa Hasil Karne Ka Wazifa

  • वीजा हासिल करने के लिए सबसे पहले आपको फॉर्म भरना होता हैं| जिस दिन आप फॉर्म भरने के लिए वीजा कार्यालय जा रहे हों, उस दिन एक नींबू को 4 भागों में काट कर,
  • ‘बिस्मिल्लाह रहमान परवरदीगर रहन्नौं नसीम”, इस वजीफा को 22 बार पढ़ कर नींबू पर फूँक मारे|अब इस तिलिस्म नींबू के एक टुकड़े को घर के आँगन के एक कोने में रख दे| दूसरे टुकड़े को किसी कब्रिस्तान में फेंक दे| तीसरे टुकड़े को किसी मजार पर चढ़ा दे और चौथे टुकड़े को जेब में रख कर वीजा ऑफिस चले जाए और फॉर्म को भरे|
  • इस वजीफा के तिलिस्म से 3 दिन के अंदर आपका वीजा के लिए इंटरव्यू का फोन आ जाएगा और हफ्ते भर के अंदर आपका वीजा लग जाएगा|

वीजा जल्दी आने का वजीफा

वीजा जल्दी आने का वजीफा – Visa Jaldi Aane Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Upay, Tarika, हम आपकी समस्या के समाधान के लिए हमेशा आपके साथ हैं। वीज़ाजल्दी प्राप्त करने के लिए सही वजीफा का इस्तमल जरूरी है।आप किसी जानकार की मदद ले सकते हैं, जो आपको एक आसान और सही तरीके से वीजा प्राप्त करने के लिएआपका मार्गदर्शन करेगा।

इस मार्गदशन से आप जल्दी से अपना वीजा प्राप्त करेंगे। वीज़ा प्राप्त करने का यह इस्लामी उपाय आपके वीज़ा प्राप्त करने की सभी कठिनाइयों को दूर कर देगा।नीचे वर्णित वजीफ़ा आपके जीवन में सपने को पूरा करने में आपकी मदद करेगा। आप दुनिया में सबसे खुश व्यक्तियों में से एक बन जाएंगे।

वीजा जल्दी आने का वजीफाकी विधि- वीजा जल्दी आने के लिए आपको निम्न प्रक्रिया आजमानी होंगी:-

Visa Jaldi Aane Ka Wazifa

  • वीजा जल्दी हासिल करने का वजीफा आपको जुम्मे के दिन से शुरू करना होता है और अगले 11 दिन तक रोजाना पढ़ना है|
  • इस वजीफ़ा के लिए सबसे पहले ताजावुजू बना ले औरपाक साफ हो जाए|इसके बाद अब आपको 7बारदरूद- शरीफको पढ़ना होगा|
  • इसके बाद वीजा जल्द हासिल करने का वजीफा जो बताया जा रहा है उसे 221 बार पढ़ना है-
  • “याहू या फर्जी वीजाजू जसिन मोहम्मद|”वीजा जल्द हासिल करने का वजीफा पढ़ने के पश्चात आपको अल्लाह-ताला से दुआ करनी है कि जल्द से जल्दवीजा मिल जाए| इसके बाद अंत में एक बार फिरदारुदे-शरीफ को 7 मर्तबा पढ़नी हैं|
  • इस प्रक्रिया को लगातार, बिना किसी छुट्टी के 11 दिन तक दुहराने से आपको अपने वीजा लग जाने की खुशखबरी 12 से 15 दिनों के अंदर मिल जाएगी|

वीजा के लिए सूरह इखलास का वजीफा

वीजा के लिए सूरह इखलास का वजीफा – Visa K Liye Surah Ikhlas Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Upay, Tarika, इन दिनों लोगों में अंतर्राष्ट्रीय देशों में जाने के लिए अधिक उत्सुकता है। विदेश जाना कोई केक का एक टुकड़ा नहीं है क्योंकि देशों के नियम और कानून विस्फ़ोटक हैं और हमें इतनी सारी औपचारिकताएँ पूरी करनी हैं।

लोगों के लिए यह बहुत मुश्किल है। कभी-कभी, हमारे भाग्य हमारे पक्ष में नहीं होते हैं और हम वीजा पाने के लिए अपने सपने को पूरा करने में बहुत सारी समस्याओं का सामना करते हैं|

लेकिन कभी-कभी, हमें कुछ अन्य कारकों की आवश्यकता होती है जो हमें वीजा प्राप्त करने में मदद करतेहैं|यह कारक वीजा और आव्रजन समस्या समाधान के लिए शक्तिशाली अमल है।आज हम वीजा के लिए सूरह इखलास का वजीफा के बारे में जानेंगे|

वीजा के लिए सूरह इखलास का वजीफा

सूरह इखलास कुरान में एक सूरह है जो बहुत छोटी है लेकिन बहुत इसकी अहमियत बहुत ज्यादा है| इससे हमारी जिंदगी के सारे मुश्किलात हल हो जाते हैं और हमें बहुत ही फायदा मिलता है|वीजा हासिल करने के लिए हम सूरह इख़लास के इस छंद का पाठ 100 मर्तबा रोज कर सकते हैं:-

Visa K Liye Surah Ikhlas Ka Wazifa

“हसबियल्लाह या लियाअल्लाह नसिमेतुल्लाह अजिरेकुतला कसियानतह आमीन|”

नबी करीम में सहाबा से फरमाया कि तुम में से किसके लिए यह मुमकिन हैं कि कुरान का एक तिहाई हिस्सा एक रात में पढ़ा करें ?सहाबा को यह अमल मुश्किल लगा तो उन्होंने अर्ज किया या सूरहे लाल हम में से यह कौन यह ताकत रखता है कि सूरह इखलास कुरान का एक तिहाई हिस्सा है, यानी इसे पढ़ने के लिए एक रात काफी नहीं हैं|”

रब और साहब के बीच के इस वार्ता का वर्णन सूरह इखलास में मिलता हैं| जो कोई भी इसे पूरे दिल से पढ़ेगा, अल्लाह-ताला उसकी हर मुराद को पूरी करेगा|

आज इस लेख में हमने वीजा हासिल करने के इस्लामी उपायों के बारे में जाना हैं| यदि आप भी विदेश जाकर ढेर सारी दौलत और शौहरत कमाना चाहते हैं, तो लेख में दिये हुए अमलों और वजीफों को पूरे दिल से आजमाए| आपको सफलता अवश्य मिलेगी|

Yadi aap kisi dusre desh mai kisi bhi kaam ke liye jana chahate hai to iske liye aap ko us desh ka visa lena padta hai, parantu kai baar bahut se karano se aap ko ya to visa mil nahi pata ya visa mai bahut si dikkato ka samana karna padta hai ya visa hasil karne mai bahut samaya lag jata hai, is samsya ke samadhan ke liye hum aaj aapko batayege Visa Lagne Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Upay, Tarika or Visa Hasil Karne Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Upay, Tarika. inhe Visa Jaldi Aane Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Upay, Tarika or Visa K Liye Surah Ikhlas Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Upay, Tarika bhi kaha jata hai.

If you need any type of help and Guidance talks to us without any hesitation. In Sha Allah we will solve your problem.

Enquiry Form

किसी को नैक बनाने का वजीफा

किसी को नैक बनाने का वजीफा


किसी को नैक बनाने का वजीफा – Kisi Ko Naik Banane Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Ilm, Tarika, Upay, हर कोई चाहता है की उसके सभी चाहने वाले नेक हो, और वो नेकी के रस्ते पैर आगे बढे, इसलिए आज हम आपको औलाद को नैक बनाने का वजीफा और शोहर को नैक बनाने का वजीफा बता रहे है. यदि आप अपनी बीवी को भी नेक बनाना चाहते है तो आपके लिए है बीवी को नैक बनाने की दुआ.

Kisi Ko Naik Banane Ka Wazifa

घर–परिवार और समाज में नेक इंसान सर्वमान्य होते हैं। यहां तक कि अल्लाहताला को भी नेक शख्स ही पसंद हैं। कई नेक होते हैं, लेकिन कुछ बिगड़े हुए अपनी मनमानी करते रहते हैं। उन्हें न तो परिवार में छोटे–बड़े का ख्याल रहता हैं और न ही वे सामाजिक मान–मर्यादा की चिंता करते है। उनमें औलादें या मियां–बीवी में से कोई भी हो सकते हैं।

वैसे लोगों को नेक बनाने के लिए र्कुआन–ए–पाक में महत्वपूर्ण वजीफे बताए गए हैं, जिनका फायदा अलग–अलग लोगों के लिए खास आयतों को पढ़कर लिया जा सकता है। ऐसे बिगड़ों को नेक बनाने का अर्थ उन्हें अपने वश में करना होता है।

किसी को नैक बनाने का वजीफा – Kisi Ko Naik Banane Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Ilm, Tarika, Upay

एक नेक इंसान दूसरों की भावना को समझता है और परिवार के सदस्यों की इज्जत का ख्याल रखते हुए अच्छाई का काम करता है। किसी मौलवी से राय–मश्विरा लेकर इसे निम्न तरह से पढ़ा जाना चाहिए।

  • अमल के लिए दिया गया एक अहम् आयत है–
  • अल्ल ताअलु अय्या व उतुनि मुसिलमीना या खबरा अल मकसूदीना या खयरल मतलुबिना या खयरल महबूबिना युहीबाबुनहुं कहबीवलालहि वल्ल्जिाना आमतु अश्वदु हब्बल लिल्लाह।
  • इस आयत को कोई भी स्त्री या पुरुष नेक बनाए जाने वाले बंदे का नाम लेकर फज्र और मगरीब की नमाज के बाद 21 बार पढ़ सकते हैं।
  • इसके पहले और बाद में 11-11 बार दरूदे शरीफ को पढ़़़ना जरूरी होता है।
  • इस वजीफे को कम से कम 11 दिनों तक अच्छी तरह से पाक–साफ होकर ही किया जाना चाहिए।

औलाद को नेक बनाने का वजीफा

औलाद को नेक बनाने का वजीफा – Aulad Ko Naik Banane Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Ilm, Tarika, Upay, बिगड़े हुए औलाद मां–बाप के लिए सिरदर्द होते हैं। परिवार और समाज में अपनी मनमानियों के कारण दुत्कारे जाते हैं।

लाख समझाने के बावजूद जब वे लोगों के सामने तहजीब और तमीज से पेश नहीं आते हैं तब उनके लिए ’औलाद को नेक बनाने का वजीफा’ इस्तेमाल में लाना चाहिए।

औलादें जिद्दी, अनुशासनहीन और झगड़ालू किस्म के हो सकते हैं। सभी के लिए अलग–अलग वजीफे बताए गए हैं। मौलवी से सलाह लेकर निम्न तरीके इस्तेमाल करने चाहिए।

Aulad Ko Naik Banane Ka Wazifa

  • वजीफे को अपनी सुविधानुसार किसी भी दिन पढ़ा जा सकता है, लेकिन समय सुबह 11 बजे तक ही होना चाहिए।
  • साफ चादर बिछाएं और ताजा वजु बनाकर नेक बनाने वाले औलाद को अपने सामने बिठा लें। उसके माथे पर हाथ रखकर सहलते और प्यार–दुलार करते हुए उसकी तारीफ करें।
  • उसकी सभी खूबियों को बताएं, मान–मर्यादा के बारे में समझाएं और इस्म मुबारक अल शहीदु को 1000 बार पढ़़ें।
  • इसके पहले और बाद मंे 21-21 बार दरूदे शरीफ को भी पढ़ें। अंत में औलाब के सिर पर तीन बार फूंक मारकर मन में ही आल्लाहताला से उसे नेक बनाने की दुआ करें।
  • इस वजीफ को अपनी इच्छानुसार रोजाना तबतक करते रहें जबतक कि औलाद की आदतों में सुधार का अनुभव नहीं हो।
  • इसे बच्चे की मां, बड़ी बहन या दूसरे रिश्तेदार औरतें भी कर सकती हैं, लेकिन उन्हें माहवारी के दौरान इस अमल को नहीं करना चाहिए।

शौहर को नेक बनाने का वजीफा

शौहर को नेक बनाने का वजीफा – Shohar Ko Naik Banane Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Ilm, Tarika, Upay, एक बीवी के लिए उसके बिगड़े हुए शौहर को नेक बनाना काफी मुश्किल काम हो सकता है। कारण ऐसा शौहर अपनी बीवी को न केवल ताने मारता है, दुत्कारता है, बात–बात पर परिवार में लोगों के सामने जलील करता है.

तलाक देने की धमकी देता है, बल्कि हाथ तक उठा देता है। इस तरह का व्यवहार करने वाले शौहर को उसके दिल में बीवी के प्रति मोहब्बत जगाकर नेक बनाया जा सकता है। उसके तरीके निम्न हैं–

Shohar Ko Naik Banane Ka Wazifa

  • यह वजीफा विवाहिता के लिए है। इसलिए उन्हें सबसे पहली हिदायत पाक–साफ होने की दी गई है। उन्हें इसका पालन करते हुइ वजीफे की शुरूआत माहवारी के बाद करनी चाहिए।
  • वजीफे की र्कुआन–ए–पाक में बताए गए आयत ‘हा या हक्कु बिहाक्की‘ को 45 दिनों में 50,000 बार पढ़कर पूरा करना है। इस बीच माहवारी के दिनों में कुछ रोज बंद रखना है।
  • सबसे पहले पाक–साफ हो लें। घर में सुकून वाले स्थान पर सुबह की नमाज के बाद वजु बनाएं और 11 बार दरूदे शरीफ पढ़कर इसकी शुरूआत करें।
  • हाथ में काली मिर्च रखकर बताए गए आयत को 1111 बार पढ़ें।
  • फिर दरूदे शरीफ को एक बार फिर से 11 बार पढ़ें और काली मिर्च पर फूंक मारें। अंत में उसे जलती आग में जला डालें।
  • वजीफा पढ़ने के दौरान शौहर की हर पसंद–नापसंद का ख्याल रखते हुए उनकी खूब आवभगत करें। कोशिश हो कि अपनी ओर से कोई भूल नहीं होने पाए। ऐसा होने पर तुरंत माफी मांगें।
  • ऐसा करने से शौहर में दो सप्ताह के बाद ही फर्क दिखने लगेगा। शौहर को दीवाना बनाने के इस वजीफे के तर्जुमा के बारे में किसी मौलवी से सलाह अवश्य कर लें।

बीवी को नेक बनाने की दुआ

बीवी को नेक बनाने की दुआ – Biwi Ko Nek Banane ki Dua, Wazifa, Amal, Istikhara, Ilm, Tarika, Upay, कुछ औरतों में अपने शौहर के प्रति नेकी की काफी कमी होती है। वे बदचलन तो नहीं होतीं, लेकिन अपने कर्कशा स्वभाव और आचरण के चलते शौहर के नाक में दम किए रहती है।

शौहर को नापसंद करती है और उसके प्रति फरमावरदार नहीं बन पाती हैं। ऐसी बीवी को सुधारने या कहें काबू में लाने के लिए नेक बनाने का वजीफा करना चाहिए। उसके दिल में अपने शौहर के प्रति मोहब्बत पैदा करने का आयत है–

या अल्लाहो, या लतिफो या वदूदू।

आयत की इस छोटी से लाईन को पढ़ने से पहले किसी मौलवी से सलाह कर लेना अच्छा होता है। पढ़ने सही तरीका निम्न है–

Biwi Ko Nek Banane ki Dua

  • वैसे तो इस वजीफे की शुरूआत किसी भी दिन की जा सकती है, लेकिन समय सुबह 11 बजे तक ही होना चाहिए। ताजा वजु बनाकर प्रतिदिन फज्र की नमाज को 11 बार और इसी तरह से 11 मर्तबा ईशा की नमाज पढ़ने के बाद आयत को 111 बार पढ़ना चाहिए।
  • आयत को पढ़ने से पहले और अंत में 11-11 बार दरूदे शरीफ भी पढ़ें। फिर अल्लाहताला से दोनों हाथ फैलाकर बीवी के आचार–व्यवहार में नेकी का बदलाव लाने की दुआ करें। साथ ही बीवी के दिल में उसके प्रति मोहब्बत मांगें। अगर उसके दिल में किसी और की मोहब्बत है तो उसे भूल जाने की दुआ करें।
  • इस दुआ के साथ साथ में रखे शक्कर की खुली पुड़िया पर दम करें और उसे बीवी को किसी भी तरह से जरूर .िखलाएं।
  • इस अमल को लगातार 41 दिनों तक करना है। इसका असर दो हफ्ते में ही नजर आ सकता है। बहुत जल्द ही बीवी में फरमावरदार होने के लक्ष्ण दिखने लगेंगे।

Har muslim chahata hai ki uske chabhi chahane wale nek raste per chale or niki kare, parantu kai baar aisa ho nahi pata, isliye hum aapko batane ja rahe hai Kisi Ko Naik Banane Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Ilm, Tarika, Upay or Aulad Ko Naik Banane Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Ilm, Tarika, Upay. iske alawa yadi aap ke shohar nek nahi hai to istemal kare Shohar Ko Naik Banane Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Ilm, Tarika, Upay. apni biwi ko nek banane ke liye hamare pass hai Biwi Ko Nek Banane ki Dua, Wazifa, Amal, Istikhara, Ilm, Tarika, Upay.

If you need any type of help and Guidance talks to us without any hesitation. In Sha Allah we will solve your problem.

Enquiry Form

Featured दुश्मन का घमंड तोड़ने का वजीफा

दुश्मन का घमंड तोड़ने का वजीफा


दुश्मन का घमंड तोड़ने का वजीफा – Dushman Ka Ghamand Todne Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Tarika, Upay, यदि आपका ददुश्मन आपको बहुत परेशान करता है तो आज हम आपको बतायेगे दुश्मन को चुप करने का वजीफा और दुश्मन को सबक सिखाने का वजीफा। इस वज़ीफ़ा को दुश्मन को झुकाने का वजीफा भी कहा जाता है.

Dushman Ka Ghamand Todne Ka Wazifa

कई बार आपका दुश्मन आपको नीचा दिखने के लिए तरह-तरह के पैतरों को आजमाता हैं और इसमें यदि वह सफल हो जाता हैं, तो उसे खुद के अजय होने का घमंड भी हो जाता हैं| वह अपने इस घमंड को समय सामय पर आपके समक्ष प्रस्तुत भी करता हैं| आज हम इस लेख में,‘दुश्मन का घमंड तोड़ने का वजीफ़ा’, के बारे में जानेंगे|

दुश्मनों से निपटने के लिए सबसे आसान तरीकों में से एक है उस के घमंड को तोड़ देना| इसका सीधा सा मतलब है कि आप उसे ऐसा सबक सीखाते हैं कि हमेशा के लिए वो आपसे दूरी बना लेता हैं |

दुश्मन का घमंड तोड़ने का वजीफा – Dushman Ka Ghamand Todne Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Tarika, Upay

आप ऐसा इसलिए करते हैं ताकि वो आपके जीवन में हस्तक्षेप न करें और आपको सभी संभावित तरीकों से प्रभावित करना बंद कर दें। दुश्मन से छुटकारा पाने के लिए प्रभावी इस्लामी वजीफ़ा नीचे बताया गया हैं:

  • यह वजीफ़ा रात में की जानी चाहिए| यदि मध्य रात्री से शुरू करे तो ज्यादा सही रहेगा|
  • काले धागे में शम्मी पेड़ की जड़ों से बनी माला पहनें। आपको इसे अपनी गर्दन के चारों ओर शनिवार या सोमवार को पहनना चाहिए। इसे पहनने के बाद आपको हल्दी से बने एक मनके की आवश्यकता है।
  • अब आपको पूर्व दिशा में मुंह करके बैठना जाना हैं और इस वजीफ़ा को 100 मर्तबा दुहराना हैं-
  • “अलीम वलिम शौकत वकारे रसुद्दीन अजितुल्लाह नसवेतर नस्ट्रोदस नसीम”

इस वजीफ़ा को पढ़ने के बाद आप अपने दुश्मन को याद करके अल्लाह-ताला से उसके शिकस्त की दुआ करे|
यह वजीफ़ा बहुत ही कारगर हैं| इसे एक हफ्ते तक लगातार दुहराने से आपको जल्द ही दुश्मन के बरबादी की खबर सुनने को मिलेगा|

दुश्मन को चुप करने का वजीफा

दुश्मन को चुप करने का वजीफा – Dushman Ko Chup Karane Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Tarika, Upay, एक बार जब आपको पता चलता है कि आपके दुश्मन हैं तो यह बहुत संभव हो जाता है कि आप इससे प्रभावित होते हैं। यह आपके तनाव के स्तर को बढ़ा सकता है और आप ज्यादातर समय चिंतित महसूस करना शुरू कर सकते हैं।

आज हम आपको ऐसे वजीफा के बारे में बताएँगे,जिसके उपयोग से आप अपने दुश्मन को खुद के खिलाफ बोलने से चुप करा सकते हैं| इसके लिए आपको निम्न उपाय करना होंगा:-

Dushman Ko Chup Karane Ka Wazifa

इस उपाय का उपयोग तब किया जाता है जब आपको अचानक पता चलता है कि आपके कई दुश्मन हैं और वो चारो ओर आपके खिलाफ बोल कर आपकी इज्जत को खराब कर रहे हैं|
इस वजीफा को करने से पहले नहा-धो कर ताजा वुजू बना ले| अब पीले कपड़े पहन कर पीले रंग की चटाई पर बैठ जाए|आपकोअब थोड़े से सरसो के दाने, उड़द के दाल, थोड़ा सा चावल और शीशम के कुछ पत्तों की आवश्यकता होंगी|
प्रत्येक वस्तु को मिला कर एक छोटी पोटली बना लें। इस पोटली को सामने रख कर इस वजीफा को 100 मर्तबा दुहराये-
औरम हीराम नौशिदिन असुद्दीन रसूल्लाह नाज़िम नक्सेतुल्लाह जायरीन|”

वजीफा को पढ़ने के बाद पोटली को उठा कर कहीं सुरक्षित रख दे| अगले दिन फिर इस प्रक्रिया को पोटली के साथ दुहराये|
इस प्रक्रिया को नियमित रूप से 15 दिन करे और पंद्रहवें दिन पोटली को घर के पीछे मिट्टी में दबा दे| इस वजीफा के असर से अंततः आपका दुश्मन आपके खिलाफ बोलना छोड़ देगा|

दुश्मन को सबक सिखाने का वजीफा

दुश्मन को सबक सिखाने का वजीफा – Dushman Ko Sabaq Sikhane Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Tarika, Upay, कई लोग ऐसे होते हैं जो आपके दुश्मन बन जाते हैं| कभी-कभी आपके जानने के बिना भी ये आपसे दुश्मनी मोल ले लेते हैं|।

ये लोग आपसे कई कारणों से नफरत कर सकते हैं, हालांकि यह मुख्य रूप से आपसे ईर्ष्या होने के कारण ऐसा होता है। यदि आप अपने ऐसे दुश्मनों को मुह तोड़ जवाब देना चाहते हैं, तो आप नीचे दिये हुए वजीफा को अक्षरश: आजमाए|

Dushman Ko Sabaq Sikhane Ka Wazifa

दुश्मन अक्सर छिप कर वार करते हैं| ऐसे दुश्मनों को सबक सीखना बहुत जरूरी होता हैं,ताकि आगे से वो कोई ऐसा कार्य करने की हिम्मत न करे|
‘दुश्मन को सबक सिखाने का वजीफा’, के प्रयोग से पहले आपको अपने दुश्मन की तस्वीर का इंतजाम करना होगा|
अब किसी तन्हा जगह पर बैठ कर सबसे पहले दारुदे-शरीफ को तीन मर्तबा पढ़ ले| अब कायनात की जिन्न की शक्तियों को याद करके “बिस्मिल्लाह तुन शाम किन रहमान”, इस वजीफा को 100 मर्तबा पढ़ते हुए दुश्मन की तस्वीर पर फूँक मारे|
वजीफा पढ़ने के बाद वापस से दारुदे शरीफ को पढ़े| इसके बाद अल्लाह-ताला से दुश्मन की हार के लिए दुआ करे| ये सब प्रक्रिया करने के बाद दुश्मन के तस्वीर को जलाते हुए जिन्नात से दुआ करे की जिस प्रकार यह तस्वीर जल कर ख़ाक हो गयी, वैसे ही दुश्मन का अकड़ ख़ाक हो जाए|
इस वजीफा से आपके दुश्मन को वो सबक मिलेगा कि वह ताउम्र आपके सामने खड़े होने की हिम्मत नहीं करेगा|

दुश्मन को झुकाने का वजीफा

दुश्मन को झुकाने का वजीफा – Dushman Ko Jhukana Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Tarika, Upay, क्या आपके दुश्मन ने आपके जीवन को नष्ट करने की कोशिश में लाइन पार कर ली है? यदि ऐसा है, तो आप इस्लामी उपायों की कोशिश कर सकते हैं जो आपके दुश्मन के जीवन को नष्ट करने में मदद करते हैं।

जब आप उनसे बदला लेना चाहते हैं तो आप इनका इस्तेमाल कर सकते हैं। दुश्मनों को नष्ट कर के उन्हें खुद के कदमों में झुकने के अमल कुछ इस प्रकार हैं:

Dushman Ko Jhukana Ka Wazifa

  • आपको इस वजीफा को आजमाने से पहले किसी मजार पर जाना होगा और वह से थोड़ी मिट्टी ले कर आना होगा| अब कुरान शरीफ को सामने रख कर इसके सामने किसी पात्र मजार की मिट्टी को डालमें कर उसके ऊपर दो लौंग को जला दें|
  • इसके बाद कुराने-पाक का पाठ करें। फिर लौंग की राख और मिट्टी को अपने पेशानी पर लगाएं। इसके बाद आप अपने दुश्मनों को नियंत्रित करने के लिए इस वजीफा का पाठ करे ताकि वे आपको नुकसान न पहुंचा सकें:
  • “औरम हातिम हतताई पूरितुम अकबरे अजितुल्लाह अस्सीदिन|”आपको इस वजीफा को किसी जुम्मे के दिन से या शनिवार को शुरू करना हैं| और हफ्ते भर लगातार दुहराना हैं|
  • एक हफ्ते के अंदर-अंदर आपको अपने दुश्मन के क्षति के बारे में पता चलेगा| अल्लाह-ताला की रहमत आपके ऊपर होने से आपका दुश्मन हर चीज में घाटा का सामना करेगा| उसका जीवन जहन्नुम में बदल जाएगा|
  • इस प्रकार एक वजीफा के प्रयोग मात्र से आप अपने मकसद में कामयाब हों जाएगे| आपका दुश्मन अपने घुटनों के बल आ जाएगा|
  • आप जो चुनते हैं वह पूरी तरह आप पर निर्भर करता है। एक निश्चित निर्णय लेने से पहले ठीक से सोचें। कभी-कभी आप अपने दुश्मन पर ध्यान केंद्रित करने और उनसे छुटकारा पाने में इतना प्रयास करते हैं कि आप अपना जीवन जीना बंद कर देते हैं।

आप जानकार से बात करने के साथ-साथ अपनी समस्या के बारे में क्या करना है, यह इस लेख में भी पढ़ सकते हैं। यह सलाह दी जाती है कि आप अपने अंतर्ज्ञान का पालन करते हुए किसी वजीफा या अमल का इस्त्माल करनी चाहिए|

यह लंबे समय तक अवसाद का कारण बन सकता है। यह निश्चित रूप से आपके जीवन का आनंद नहीं लेगा क्योंकि आप भयभीत हैं कि आपका दुश्मन आगे क्या कर सकता है। अब आप सोच रहे होंगे कि जब आपको एहसास होता है कि आपके एक या एक से ज्यादा दुश्मन हैं तो आप क्या करते हैं?

आप उनसे छुटकारा पाने, उन्हें हराने और / या नष्ट करने के लिए ज्योतिषीय उपाय और विशिष्ट मंत्रों को लागू कर सकते हैं। कुछ ऐसे टोटके भी हैं जिन्हें आप अपने दुश्मनों से ठीक से निपटने और उन पर विजय पाने के लिए कर सकते हैं।

Yadi aapka dusman aap ko bahut pareshan karta hai or aap bahut chinta mai rahate hai to hum aapko leker aaye hai, Dushman Ka Ghamand Todne Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Tarika, Upay or Dushman Ko Chup Karane Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Tarika, Upay. Aaj he istemal kare hamara Dushman Ko Sabaq Sikhane Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Tarika, Upay or Dushman Ko Jhukana Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Tarika, Upay. Hum aapko pakka yakin dilate hai ki inko istemaal karke aapka dusman sada ke liye aap ka ho jayega.

If you need any type of help and Guidance talks to us without any hesitation. In Sha Allah we will solve your problem.

Enquiry Form

वालिदैन को मनाने का वजीफा

वालिदैन को मनाने का वजीफा


वालिदैन को मनाने का वजीफा – Waldain Ko Manane Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Taweez, Tarika, Upay, हमारी बहुत सी मागो को हमारे वालिदैन नहीं मानते और हमसे नाराज़ हो जाते है, आज हम आपको ऐसा वज़ीफ़ा बतायेगे जिससे आप आपके वालिदैन के कुछ भी करवा सकते है, इसे वालिदैन को राज़ी करने का वजीफा या वालिदैन को काबू में करने की दुआ कहते है. इसके अलावा हम आपको वालिदैन को शादी के लिए मनाने का वजीफा भी बतायेगे।

Waldain Ko Manane Ka Wazifa

लड़का या लड़की को कुदरती देन मोहब्बत में पड़ जाने के बाद प्रेम विवाह में बाधा की शुरूआत उनके वालिदैन यानी माता-पिता की तरफ से ही होती है। इसके लिए उन्हें मनाना अगर मुश्किल है तो नामुमकिन नहीं कहा जा सकता है।

वालिदैन को मनाने का वजीफा – Waldain Ko Manane Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Taweez, Tarika, Upay

कुछ वालिदैन तो जल्द ही मान जाते हैं, जबकि कुछ जाति, धर्म, खानदान, हैसियत और ओहदे की वजह से राजी नहीं होते। वैसे वालिदैन को र्कुआनी आयत के वजीफे अल्लाहताला के नामों के बने ताबीज की बदौलत मनाया जा सकता है। किसी जानकार मौलवी से राय-मश्वीरा लेकर नीचे दिए गए तरीके से ताबीज और वजीफे का इस्तेमाल कर सकते हैं।

  • लड़का हो या लड़की पाक-साफ होकर नेक नीयत से ताबीज किसी भी रोज बना सकते हैं।
  • सुकून और तन्हाई के माहौल में रात को सोने से पहले वजू बनाएं और अल्लहुस्स्माद को 1100 बार पढ़ें। मोहब्बत की निकाह के ख्वाहिश लिए हुए एक छोटे से पाक-साफ कागज पर काली स्याही से अल्लाह के नाम अर रहमान को लिख लें।
  • ताबीज को लिखने के बाद उसे किसी कपड़़े या छोटी थैली मंे हिफाजत से लपेट लें। उसे अपने दाहिने वाजू में बांध लें।
  • उसके बाद बिस्मिल्लाह हिर रेहमानीर हरिम को 1000 बार पढ़ें। फिर पानी के ग्लास में फूंक मारकर सुरह अल फतिहा को 99 मर्तबा पढ़ें।
  • अपने वालिदैन के सामने जाने की कोशिश करें और उनसे किसी भी तरह से उनको खुश करने वाली शांतिपूर्ण बातें करें।

वालिदैन को राजी करने का वजीफा

वालिदैन को राजी करने का वजीफा – Waldain Ko Razi Karne Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Taweez, Tarika, Upay, अक्सर अधिकतर संतानें अपनी मनमर्जी करती रहती हैं, जिनमें कुछ जायज होती हैं। फिर भी उनके वालिदैन को उनका मनमनापन बर्दाश्त नहीं होता है। खासकर उनकी मर्जी विरूद्ध जाकर शादी करना।

माना कि सबकुछ मोहब्बत के वश में होता है, लेकिन वालिदैन की इजाजत के बगैर इस तरह के निकाह को परिवार और समाज सही नजरिए से नहीं देखता है। यही वजह है कि निकाह के लिए उनका हर सूरत में राजी किया जाना जरूरी है।

अगर सुकून की बातों से बात नहीं बनती है तब अल्लाह की शरण में जाएं। तहे दिल से इबादत करें। नमाजें पढ़ें। र्कुआन-ए-पाक में दिए गए वालिदैन को राजी करने के वजीफे का अमल करें।

इंशा अल्लाह अगर आपकी मोहब्बत में दम होगा और आपकी नीयत साफ होगी तब वजीफे जरूर कुबूल होगा। इसके लिए लगातार 21 दिनों तक किया जाने वाला वजीफा मौलवी द्वारा बताया गया तरीका इस प्रकार है-

Waldain Ko Razi Karne Ka Wazifa

  • घर में साफ चादर बिछाकर ताज वजू बना लें। फिर असर की नमाज को पढ़ लें।
  • फिर दरूदे पाक को 11 बार पढ़ें। उसके बाद सुराह अल-असर को 101 मर्तबा पढ़कर नीचे दिए गए आयत को पूरी शिद्दत के साथ 111 बार पढ़ें।
  • आयत है-
  • वाला कादा फात्ता ना सुलेमान वा अल क्याना अला कुर सिय्याही जासंदान सुम्मा अना बा(लड़के का नाम), बिन(लड़के की मां का नाम), बिन-ते(लड़की और उसकी मां का नाम)
  • बगैर नागा किए गए इस अमल के एक सप्ताह के भीतर ही वालिदैन के व्यवहार में बदलाव देखने को मिलेगा। उनकी रूचि आपके पसंद में बनने लगेगी। उसके बाद मौका देखकर दो परिवारों के वालिदैन को मिलाने की कोशिश कर सकते हैं।

वालिदैन को शादी के लिए मनाने का वजीफा

वालिदैन को शादी के लिए मनाने का वजीफा – Waldain Ko Shadi K Liye Manane Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Taweez, Tarika, Upay, अपनी पसंद की शादी के वास्ते वालिदैन को मनाने के लिए र्कुआन-ए-पाक में बेहतरीन वजीफा बताया गया है।

जरूरत उसे पूरी शिद्दत और नेक नीयत के साथ बगैर नागा किए लगातार 11 दिनों तक पढ़ने के अमल करने की है। जानकार मौलवी के अनुसार तरीके इस प्रकार हैं-

Waldain Ko Shadi K Liye Manane Ka Wazifa

  • घर के किसी एकांत सुकून वाली जगह पर साफ चादर बिछाकर ताजे वजू के साथ बैठ जाएं।
  • सुरह यासीन शरीफ को तीन बार पढ़ें। फिर या अल्लाहू या फत्ताहू को 303 मर्तबा पढ़ लें।
  • इस बीच जब जुम्मा आ जाए तब जुमा की नमाज के बाद लड़का या लड़की नीचे दिए गए वजीफे को साथ में नमक की पुड़िया रखकर करें, जिसकी शुरूआत 10 बार दुरूद शरीफ पढ़कर करना चाहिए।
  • फिर 1001 बार या वदुदो को पढ़ें और दोबारा दुरूद शरीफ को 10 बार पढ़ लें।
  • अंत में नमक की पुड़िया पर अल्लाह को स्मरण कर दम करें। उस नमक को संभालकर रखें और अगले रोज अपने वालिदैन को दम किया हुआ नमक खाने में मिलाकर अवश्य खिलाएं। साथ ही अपने वालिदैन के साथ बहुत ही खुलूस और मोहब्बत के साथ पेश आएं।
  • इस वजीफे के दिन जैसे-जैसे खत्म होने को आएंग, वैसे-वैसे वालिदैन के स्वाभाव में आपके प्रति नरमी बढ़ती चली जाएगी।

वालिदैन को काबू में करने की दुआ

वालिदैन को काबू में करने की दुआ – Waldain Ko Kabu Karne Ki Dua, Wazifa, Amal, Istikhara, Taweez, Tarika, Upay, कई बार वालिदैन किसी भी सूरत में अपनी संतान की बातें मानने को तैयार नहीं होते। वे हर हाल में अपनी मनमर्जी उनपर थोपना चाहते हैं। खासकर लड़की के वालिदैन अपने मनमानेपन के चलते उसकी सभी इच्छाओं को दमित कर देते हैं।

उसे किसी भी सूरत में उनकी मर्जी की शादी नहीं होने देना चाहते हैं। यहां तक कि हमेशा गुस्से का तेवर लिए रहते हैं। ऐसे वालिदैन को अपने काबू में करने का वजीफा अमल में लाना चाहिए। उसके लिए र्कुआन में दिया गया आयत है-

अल्ला ताअलु अय्या व उतुनि मुसिलमीना या खयरा अल मकसूदीना या खयरल मतलूबिन या खयरल महबूबिना युहीबाबुनहुं कहबीवलालहि वल्ल्जिना अमातु अश्ददु हब्बल लिल्लाह।

वालिदैन को अपने वश में करने के लिए इस आयत को फज्र की नमाज के बाद कुल 121 बार पढ़ना चाहिए। उससे पहले और बाद में 11-11 बार दुरूदे शरीफ को भी पढ़ना जरूरी होता है। अंत में अपने मंुह पर रूमाल रखकर वालिदैन के पास अदब और तहजीब के साथ जाना चाहिए। उनसे अपनी किसी उपलब्धि, पढ़ाई, कमाई या करियर संबंधी भविष्य की योजना पर बात करने की इजाजत मांगनी चाहिए।

Waldain Ko Kabu Karne Ki Dua

इसका जबरदस्त असर होगा और वालिदैन की निगाह में फरमावरदार संतान कहे जाएंगे। इस तरह उनके दिल में अपने संतान के प्रति विश्वास और मोहब्बत की भावना जाग जाएगी। और फिर मौका देखकर अपनी पसंद की बात के लिए उन्हें राजी किया जा सकता।

नोटः ऊपर बताए गए सारे वजीफे को लड़का या लड़की कोई भी कर सकते हैं। इसके लिए कुछ सख्ती से नियम पालन करने होते हैं। सबसे महत्वपूर्ण सख्ती की हिदयत लड़की के लिए बताई गई है कि उन्हें किसी भी तरह का वजीफा माहवारी के दौरना नहीं करना चाहिए। इस तरह के अमल की शुरूआत माहवारी खत्म होने के बाद पूरी तरह से पाक-साफ होकर करना चाहिए।

Aksar hamare Waldain hamari sabhi baaton ko nahi mante or hamse naraz ho jate hai, iske liye aaj hum aapko aisa wazifa batayege jisse aapke Waldain aapki har baat ko manege. Ise Waldain Ko Manane Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Taweez, Tarika, Upay ya Waldain Ko Razi Karne Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Taweez, Tarika, Upay bhi kaha jata hai. Kuch log isko Waldain Ko Kabu Karne Ki Dua, Wazifa, Amal, Istikhara, Taweez, Tarika, Upay bhi kahate hai. iske alawa hum aaj aapko Waldain Ko Shadi K Liye Manane Ka Wazifa, Dua, Amal, Istikhara, Taweez, Tarika, Upay bhi batayege.

If you need any type of help and Guidance talks to us without any hesitation. In Sha Allah we will solve your problem.

Enquiry Form

मोहब्बत का सूरह मुजम्मिल वजीफा

मोहब्बत का सूरह मुजम्मिल वजीफा


मोहब्बत का सूरह मुजम्मिल वजीफा – Surah Muzammil Ka Mohabbat Ka Wazifa, Dua, Amal, Upay, Tarika, आज हम आपको एक ऐसा वज़ीफ़ा बताने जा रहे है जो मोहब्बत से संबंदित आपकी साडी समसस्याओं का निराकरण करेगा, इसे सच्ची मोहब्बत होने का सूरह मुजम्मिल वजीफा या शोहर को पाने के लिए सूरह मुजम्मिल की आयत के नाम से जाना जाता है. इसके अलावा हम आज आपको सूरह मुजम्मिल वजीफा फॉर शादी भी बताने जा रहे है.

Surah Muzammil Ka Mohabbat Ka Wazifa

इस दुनिया में हर शख्स किसी ना किसी बात को लेकर परेशान रहता है। कोई अपने व्यापार को लेकर परेशान है तो कोई अपने बीवी-बच्चों को लेकर। इसके अलावा कुछ लोग प्यार-मोहब्बत और अपने प्रेमी को लेकर भी परेशान रहते है।

कई बार ऐसा होत है कि हम किसी शख्स से बेइंतहा मोहब्बत करते है और उसके साथ शादी करना चाहते है। लेकिन हमारा यह रिश्ता कामयाब नहीं हो पाता और इसके बीच में रोज़ाना कोई नई मुश्किल आ जाती है।

=मोहब्बत का सूरह मुजम्मिल वजीफा – Surah Muzammil Ka Mohabbat Ka Wazifa, Dua, Amal, Upay, Tarika

इन मुश्किलों को दूर करने के लिए मोहब्बत का सूरह मुजम्मिल वजीफा का इस्तेमाल किया जा सकता है। यदि आप भी किसी लड़के या लड़की से बहुत प्यार करते है और उसके साथ अपनी पूरी ज़िन्दगी गुजारना चाहते है तो मोहब्बत का सूरह मुजम्मिल वजीफा की मदद ले सकते है।

मोहब्बत का सूरह मुजम्मिल वजीफा की शुरूआत आपको जुमे के दिन से करनी है। इसकी शुरूआत यदि आप जितनी जल्दी शुरू कर देंगे, आपके लिए उतना ही अच्छा होगा। जुमे के दिन फज़र की नमाज से फारिख होकर आपको मोहब्बत का सूरह मुजम्मिल वजीफा पढ़ना है। इस वजीफे को पढ़ने से पहले 11 मरतबा दुरूद इब्राहिम पढ़ लें। इसके बाद आपको मोहब्बत का सूरह मुजम्मिल वजीफाकी सभी आयतें 21 बार पढ़नी है।
वजीफे के आखिर में एक बार फिर से 11 बार दुरूद इब्राहिम पढ़ें। इसके बाद अपने दोनों हाथ फैलाकार अल्लाह ताला से दुआ करें कि आपके और आपके प्रेमी के बीच आने वाली सभी अड़चनें दूर हो जाए।

मोहब्बत का सूरह मुजम्मिल वजीफा आपको कम से कम 7 जुमे तक करना है। इसके बाद आप देखेंगे कि किस तरह जिससे आप मोहब्बत करते है, वह खुद ही आपकी ज़िन्दगी में आ जाएगी।

सूरह मुजम्मिल वजीफा फॉर शादी

सूरह मुजम्मिल वजीफा फॉर शादी – Surah Muzammil Wazifa For Shadi, Marriage, इस्लाम की पवित्र पुस्तक कुरान ए पाक के हर शब्द में बेहद ताकत है। इसमें सैकड़ों आयते दी गई है, जिसकी मदद से आप अपनी जिन्दगी में आने वाली हर समस्या का समाधान कर सकते है।

यदि आपकी जल्द से जल्द शादी करना चाहते है लेकिन आपकी शादी में रोज़ाना कोई ना कोई परेशानियां आ रही है तो उन परेशानियों को दूर करने के लिए आप सूरह मुजम्मिल वजीफा फॉर शादी का इस्तेमाल कर सकते है।

इस सूरह मुजम्मिल में कुल 20 आयत दी गई है और इसकी हर आयत बेहद ही खूबसूरत है। इसे पढ़ते समय आपको बेहद सुकून मिलेगा और खुद को आप अल्लाह के करीब महसूस करेंगे।

कई बार शादी-ब्याह के मामलों में कुछ लोगों को बहुत परेशानी होती है। अक्सर ऐसा होता है कि कई सालों तक ढूंढने के बाद भी उन्हें एक अच्छा रिश्ता नहीं मिलता। यदि आप एक अच्छे और नेक रिश्ते की तलाश में है तो सूरह मुजम्मिल वजीफा फॉर शादी का इस्तेमाल कर सकते है।

Surah Muzammil Wazifa For Shadi

वजीफे के इस्तेमाल से आपके लिए अच्छे रिश्तों की लाइन लग जाएगी। इसके अलावा कई बार कुछ लोगों की उम्र बहुत अधिक हो जाती है और अधिक उम्र के कारण भी उनके रिश्ते आने बंद हो जाते है। लेकिन आपको बता दें कि अल्लाह अपने नेक बंदो को कभी निराश नहीं होने देता।

यदि आपकी शादी में देरी भी हो रही है तो इसके पीछे अल्लाह ने कुछ अच्छा जरूर सोचा हुआ होगा। सूरह मुजम्मिल वजीफा फॉर शादी के साथ अगर आप अल्लाह की खिदमत करेंगे तो इंशाल्लाह आपकी शादी बहुत जल्द हो जाएगी।

शोहर को पाने के लिए सूरह मुजम्मिल की आयत

शोहर को पाने के लिए सूरह मुजम्मिल की आयत – Shohar Ko Pane Ke Liye Surah Muzammil Ki Ayat, हर लड़की चाहती है कि उसकी शादी एक अच्छे लड़के से हो और शादी के बाद उसका शौहर उसे ढेर सारा प्यार करें। कुछ महिलाओं की किस्मत बहुत अच्छी होती है और उनके नेक कामों की बदौलत उनका रिश्ता एक अच्छे घर में हो जाता है।

लेकिन कुछ लड़कियां यह सोचकर ही परेशान रहती है कि उन्हें अपने जीवन में कैसा शौहर मिलेगा। अगर आप रोज़ाना कुछ नेक काम करेगी और अल्लाह पर विश्वास रखेगी तो आपको एक अच्छा शौहर जरूर मिलेगा।

इसके एक अच्छा पति पाने के लिए आप शोहर को पाने के लिए सूरह मुजम्मिल की आयत पढ़ सकती है। अगर आपकी शादी हो चुकी है, लेकिन आपके शौहर आपसे प्यार नहीं करते तो उन्हें आकर्षित करने के लिए भी आप शोहर को पाने के लिए सूरह मुजम्मिल की आयत की मदद ले सकती है।

Shohar Ko Pane Ke Liye Surah Muzammil Ki Ayat

शोहर को पाने के लिए सूरह मुजम्मिल की आयत कोई भी महिला पढ़ सकती है। इसे पढ़ने के लिए आपको किसी की इजाजत लेना जरूरी नहीं है। यह आयत आपको बिल्कुल साफ लिबाज़ में ही पढ़नी है। दिन में किसी भी समय आप यह आयत पढ़ सकते है। शोहर को पाने के लिए सूरह मुजम्मिल की आयत इस प्रकार है-
इन्न अशिअतल लैलि वुहिया अशद्दु वत अनव वअक्वमु कीलाही

शोहर को पाने के लिए सूरह मुजम्मिल की आयत आपको 121 बार पढ़नी है। इस आयत के अव्वल और अंत में 7 बार दुरूद ए पाक अवश्य पढ़ें, जिससे आपका वजीफा और ज्यादा मजबूत बन जाएगा।

सच्ची मोहब्बत होने का सूरह मुजम्मिल वजीफा

सच्ची मोहब्बत होने का सूरह मुजम्मिल वजीफा – Sacchi Mohabbat Hone Ka Surah Muzammil Ka Wazifa, हर इंसान की ज़िन्दगी में उसके कुछ सपने जरूर होते है। लेकिन सच्ची मोहब्बत पाना इस दुनिया के हर लड़के और लड़की का सपना होता है।

अगर ज़िन्दगी में एक सच्चा प्यार करने वाला जीवनसाथी मिल जाए तो एक व्यक्ति कम पैसों और छोटी नौकरी से भी अपना गुजारा कर सकता है। सच्ची मोहब्बत का असली मतलब यही होता है कि ज़िन्दगी में चाहे कैसी भी परिस्थितियां क्यों ना आ जाए, आपका साथी हर वक्त एक चट्टान की तरह आपको सहारा देगा।

लेकिन आज के जमाने में कुछ लोगों ने मोहब्बत को मजाक समझ लिया है। उन लोगों को समझना चाहिए प्यार-मोहब्बत को खेल नहीं है। यदि आप किसी से सच्चा प्यार करते है और उसकी मोहब्बत हासिल करना चाहते है तो सच्ची मोहब्बत होने का सूरह मुजम्मिल वजीफा का इस्तेमाल कर सकते है।

Sacchi Mohabbat Hone Ka Surah Muzammil Ka Wazifa

सच्ची मोहब्बत होने का सूरह मुजम्मिल वजीफा आपको रात को सोने से पहले पढ़ना है। इसके लिए आपको उस शख्स की तस्वीर की जरूरत पड़ेगी, जिससे आप मोहब्बत करते है। यह वजीफा कोई भी महिला अपने शौहर के लिए, शौहर अपनी बीवी के लिए, प्रेमी-प्रेमिका एक-दूसरे के लिए पढ़ सकते है। सबसे पहले ताजा वुज़ू बना लें और एक तन्हा स्थान पर बैठ जाएं। अब 11 बार दुरूद ए पाक पढ़कर नीचे दिया गया सच्ची मोहब्बत होने का सूरह मुजम्मिल वजीफा 41 बार पढ़ें-
या अया यहूल मुज़्ज़ममिल तरतीला

वजीफे के अंत में 11 बार दुरूद ए पाक पढ़ें और एक गिलास पानी पर दम करें। दम किए हुए पानी की कुछ बूंदे अपनी मोहब्बत की तस्वीर पर छिड़क दें और बाकी पानी तीन घूंट में पी जाएं।

यह वजीफा आपको 21 दिन तक करना है और इस दौरान आपको अपनी नियत बिल्कुल पाक रखनी है। सच्ची मोहब्बत होने का सूरह मुजम्मिल वजीफा से संबंधित किसी भी प्रकार की अन्य जानकारी के लिए आप हमसे संपर्क कर सकते है।

Kahate hai sacchi mohabbat badi muskil se milti hai or kismat walo ko he milti hai, aaj hum aapko ek aise wazifa ke bare mai batayege jo mohabbat mai ane wali sari samasyaon ko khatam kar sakta hai, ise Surah Muzammil Ka Mohabbat Ka Wazifa, Dua, Amal, Upay, Tarika kahate hai. shadi mai ane wali samsyaon ke liye hai Surah Muzammil Wazifa For Shadi, Marriage. shohar ko pane ke liye hai Shohar Ko Pane Ke Liye Surah Muzammil Ki Ayat or Sacchi Mohabbat Hone Ka Surah Muzammil Ka Wazifa.

If you need any type of help and Guidance talks to us without any hesitation. In Sha Allah we will solve your problem.

Enquiry Form