किसी के दिल में मोहब्बत डालने का वजीफा


किसी के दिल में मोहब्बत डालने का वजीफा – Kisi Ke Dil Me Mohabbat Dalne Ka Wazifa, Dua, Taweez, Tarika, Hindi, Urdu, दोस्तों कई बार है की हम अपना दिल किसी को दे बैठते है परन्तु या तो वो हमसे प्यार नहीं करता/करती या वो किसी और का होता है. इसके लिए आज हम आपको किसी के दिल में मोहब्बत पैदा करने की दुआ और किसी को हासिल करने की दुआ बता रहे है. इसको किसी के दिल में जगह बनाने का वज़ीफ़ा भी है

Kisi Ke Dil Me Mohabbat Dalne Ka Wazifa

सच्ची मोहब्बत दुर्लभ है। किसी ऐसे व्यक्ति को ढूंढना जो आपके जीवन में खुशियाँ भरता है और आपकी आध्यात्मिक, भावनात्मक और शारीरिक आवश्यकताओं को पूरा करता है, कठिन है, और यह सभी के लिए नहीं होता है।

अक्सर हम लोगों को कहते हुए सुनते हैं कि अमुक व्यक्ति अमुक के मोहब्बत में पागल हैं| ऐसा इसलिए होता हैं,क्योकि मोहब्बत में लोग अक्सर अपनी सुध-बुध खो देते हैं| प्रेमी दुनिया कि परवाह नहीं करते हैं| वे एक दूसरे में ही खोये रहते हैं|

किसी के दिल में मोहब्बत डालने का वजीफा – Kisi Ke Dil Me Mohabbat Dalne Ka Wazifa, Dua, Taweez, Tarika, Hindi, Urdu

यदि आप किसी के दिल मेंमोहब्बतडालना चाहते हैं, तो इसके लिए इस्लामी अमल और वजीफ़ा कि मदद लें सकते हैं| इस्लाम में किसी के दिल में मोहब्बत डालने के लिए बहुत से वजीफों का वर्णन हैं,जिनमे से कुछ इस प्रकार से हैं:-

यदि आप अपने प्रेमी को अपने मोहब्बत में पागल बनाना चाहते हैं,तो सर्वप्रथम सुबह नहा-धोकर साफ सुथरा कपड़ा पहन लें| अब वज़ू बना कर किसी साफ-सुथरी और शांत जगह पर बैठ जाए,जहाँ बिलकुल भी शोरगुल ना होता हों|
अपने सामने पवित्र मक्का-मदीना की फोटो को स्थापित करें| अब नीचे दिये हुए वजीफ़ाको 40 मर्तबा पढे-
“रब्बी इज़आल हठ अल्बालादा अमीन वज़नुबनी वबनय्या ए नाआबूडा अलसनाम”

इस वजीफ़ा को लगाता 40 मर्तबाबार पढ़े, बीच में रुके नहीं| अल्लाह-ताला के करम से आप जिस बंदे के दिल में अपने लिए मोहब्बत का बीज बोना चाहते थे वो सफल हो जाएगा| आपका प्रेमी आपकी हर बात को मानने लगेगा| यह प्रक्रिया उस दिन तक दुहराते रहे,जब तक आपको यह ना लगने लगे कि आपका प्रेमी पूरी तरह से आपके मोहब्बत में पागल हो गया हैं|
अल्लाह-ताला में विश्वास रखते हुए इस वजीफ़ा का उपयोग पूरी शक्ति के साथ करें| यह बहुत ही प्रभावकारी वजीफ़ा हैं,जो सतप्रतिशत आपको सफलता प्रदान करता हैं|

किसी के दिल में मोहब्बत पैदा करने की दुआ

किसी के दिल में मोहब्बत पैदा करने की दुआ – Kisi Ke Dil Me Mohabbat Paida Karne Ki Dua, Wazifa, Taweez, Tarika, Hindi, Urdu, अक्सर यह कहा जाता हैं कि उसे खुद के लिए मत चुनों,जिससे आप मोहब्बत करते हैं,बल्कि उसे चुनों,जो आपसे मोहब्बत करता हों| यदि कोई आपकेमोहब्बत में इस तरह पागल हो,तो आप इस दुनिया के किस्मत वाले लोगों में से एक हैं|

यदि आप भी चाहते हैं कि कोई आप से दीवानगी की हद तक मोहब्बत करे, तो आप इस्लाम में बताए गए दुआओं को पढ़ कर उस बंदे के दिल में खुद के लिए मोहब्बत पैदा कर सकती हैं| इन दुआओं का उल्लेख नीचे किया गया हैं:-

Kisi Ke Dil Me Mohabbat Paida Karne Ki Dua

  • पाँच वक्त का नमाज़ रोज पढ़े| नमाज़ पढ़ते समय अपने सामने किसी पात्र में जल भर कर रखे और उसे इन दुआओं के पाठ के द्वारा तिलिस्मी बना ले–
  • अल्लाह-हू-आलस-इतेमुतुल्लाह, हदीस – इसे दो बार दुहराये|
  • सुरक्षा/मोक्ष/मन्नत पूरा करने के लिए आओ अल्लाह ताला से प्रार्थना करे(हया अलअल्लाह); दो बार दुहराये।
  • परवरदिगार सबसे बड़ा (अल्लाहु अकबर) है; दो बार अदायगी की।
  • कोई इंसान सर्वशक्तिमान नहीं है लेकिन अल्लाह (ला इलाह वसितुल्लाह अल्लाह); सर्वेसर्वा हैं|
  • इस दुआ को लगातार 11 दिनों तक नियमित पढ़ने से आपका यह जल तिलस्मी शक्तियों को प्राप्त कर लेता हैं| इस जल में इतनी ताकत आ जाती हैं कि इसे जिसके भी ऊपर छिड़क देंगे उसके दिलों- दिमाग पर आपका नियंत्रण हो जाएगा|
  • अब किसी भी प्रकार से इस तिलस्मी पानी को जिसके दिल में आप अपनी मुहब्बत पैदा करना चाहते हैं, उसके ऊपर छिड़क दें| बस इस बात का ध्यान रखे कि सामने वाले बंदे को इस बात का कोई इल्म नहीं होना चाहिए कि आप की मंशा क्या हैं| अन्यथा यह दुआ अपना असर नहीं दिखाएगा|
  • इस तिलस्मी पानी का शरीर पर पड़ते ही उस बंदे का खुद पर कोई काबू नहीं रह जाएगा| वह पूरी तरह से आपके मुहब्बत में पागल हो जाएगा|

किसी के दिल में जगह बनाने का वज़ीफ़ा

किसी के दिल में जगह बनाने का वज़ीफ़ा – Kisi Ke Dil Me Jagah Banane Ka Wazifa, Dua, Taweez, Tarika, Hindi, Urdu, यदि आप किसी से बहुत मोहब्बत करते हैं और यह चाहते हैं कि सामने वाला भी आपड़े इसी कदर मोहब्बत करे तो आप इस्लाम में बताए गए कुछ अमलों को आजमा सकते हैं|

वर्तमान समय में, कई ऐसे अमल और वजीफ़े हैं, जिनके प्रयोग से हम किसी को भी अपनी मोहब्बत में बेकरार कर सकते हैं और उस बंदे के दिल में अपने लिए माकूल जगह बना सकते हैं| इन वजीफों का वर्णन नीचे सिलसिलेवार ढंग से किया गया हैं:-

Kisi Ke Dil Me Jagah Banane Ka Wazifa

  • अल्लाह का वर्णन कुरान और हदीस में 99 नामों से किया गया है जो उनकी विशेषताओं को दर्शाते हैं। कुरान अल्लाह के गुणों को “सबसे सुंदर नाम” के रूप में संदर्भित करता है, और परंपरागत रूप से 99 रूपों में गणना की जाती हैं, जिसमें उच्चतम नाम (अल-इसम अल-आलम), अल्लाह का सर्वोच्च नाम के रूप में जोड़ा जाता है।
  • कुरान और हदीस के इन पाठों को जो बंदा लगातार पढ़ेगा, अल्लाह ताला उसकी सारी मुराद पूरी करेंगे| यदि आप किसी के दिल में जगह बनाना चाहते हैं, तो आज से ही इन पाठों को नियमित रूप से शुरू कर दें| जल्द ही आप अपने मकसद में कामयाब होंगे|
  • आप जिसे भी अपनी मोहब्बत में बेकरार करना चाहते हैं, उस बंदे के सिर का बाल को किसी प्रकार से हासिल कर ले| अब एक महीने तक लगातार कुरान और हदीस का पाठ रोज सुबह व शाम करे|
  • एक महीने के बाद इस बाल को जला दें| इस बाल के जलते ही वह व्यक्ति आपकी ओर आकर्षित होने लगेगा| कुछ ही दिनों में उसका आकर्षण चरम सीमा पर पहुँच जाएगा| वह आपकी मुहब्बत में इस कदर दीवाना हो जाएगा कि उसे दिन रात का भी कोई होश नहीं रहेगा| इस तरह से इस्लाम के रस्तों पर चलते हुए आप किसी भी शख्स के दिल में अपने लिए जगह बना सकते हैं|

किसी को हासिल करने की दुआ

किसी को हासिल करने की दुआ – Kisi Ko Hasil Karne Ki Dua, Amal, Wazifa, Taweez, Tarika, Hindi, Urdu, मान लें कि आप किसी भी व्यक्ति को अभी तक दिल में संजोते हैं लेकिन वह व्यक्ति उस बिंदु पर किसी अन्य व्यक्ति से प्यार करता है, आप मुहब्बत ख़त्म कर के अमल के उपयोग के साथ उनके जुड़ाव को तोड़ सकते हैं,

परंतु आप कुछ ऐसे भी दुआ और वजीफ़ा हैं, जिनके प्रयोग से उस व्यक्ति को हासिल कर सकते हैं| आइये किसी को हासिल करने के लिए कौन सी दुआ करनी चाहिए इसके बारे में जानते हैं|

Kisi Ko Hasil Karne Ki Dua

  • मोहब्बत जब किसी से हो जाती है तो वह उसे हर कीमत पर हासिल कर लेना चाहता हैं| अपने इश्क को पाने की चाहत और तड़प दिल में घर कर लेती है। फिर उसे हासिल करने के लिए इस आग में झुलसे हुए प्रेमी कभी कभार कुछ ऐसा कर गुजरते हैं जो की बहुत बड़ी परेशानी का सबब बन जाता है।
  • इन सभी तकलीफों से आपको निजात दिलाने के लिए आपको एक चमत्कारी दुआ के बारे में बताते हैं। मोहब्बत हासिल करने के अमल से आप अपने मेहबूब/महबूबा को सही तरीके से प्राप्त कर सकते हैं जिसे आप हर घडी अपनी आँखों के सामने देखना चाहते हैं|
  • नीचे दिए गए दुआ को पढ़ने से पहले दारूद-ए-पाक 5 बार पढ़िए फिर इस दुआ को 7 मर्तबा पढ़िए। इसके बाद आखिर में दारूद-ए-पाक का 5 बार जाप कीजिये।
  • “रब्बाना इननाका ताएअलामु मा नौखफी रकीब वामा नूअलीनू वामा यखफा एआला वासेतुल्लाह अल्लाह मिन शायिन फीस अलर्दी वाला शुल्क अलस्सामई रहीम|”
  • इस दुआ को नियमित रूप से पढ़ने से अल्लाह-ताला के कृपा से जल्द ही जिस बंदे को आप हासिल करना चाहते हैं, वह पूरी तरह से आपका दीवाना बन जाएगा| अपने मकसद में कामयाब होने के बाद अल्लाह-ताला को शुक्रिया अदा करना न भूले|
  • उपयुक्त सभी वजीफ़ा व दुआ सतप्रतिशत परिणाम देने वाले हैं, जिन्हें आजमा कर आप अल्लाह द्वारा प्रदान इस खूबसूरत अहसास, जिसे मोहब्बत कहते हैं, उसे हासिल कर सकते हैं| आपका सच्चा प्रयास निसंदेह आपको सफलता देगा, बस अपने खुदा पर भरोसा रखे|

Kai baar aisa hota hai ki hum to kisi se dil laga bathte hai per ya to wo humse dil nahi lagata ya wo kisi or ka hota hai.

Iske liye aaj hum aapko Kisi Ke Dil Me Mohabbat Dalne Ka Wazifa, Dua, Taweez, Tarika, Hindi, Urdu ya Kisi Ke Dil Me Mohabbat Paida Karne Ki Dua, Wazifa, Taweez, Tarika, Hindi, Urdu bata rahe hai.

Isko Kisi Ke Dil Me Jagah Banane Ka Wazifa, Dua, Taweez, Tarika, Hindi, Urdu or Kisi Ko Hasil Karne Ki Dua, Amal, Wazifa, Taweez, Tarika, Hindi, Urdu bhi kaha jata hai.

If you need any type of help and Guidance talks to us without any hesitation. In Sha Allah we will solve your problem.

Enquiry Form

शौहर को काबू में करने का वजीफा


शौहर को काबू में करने का वजीफा – Shohar Ko Kabu Karne Ka Wazifa, Tarika, Taweez, Dua, Qurani, Hindi, Urdu
, बहुत से घरो मे देखा गया है की शोहर अपने मन की करते हैं और बहुत लापरवाह होते है, इसलिए आज हम आपको अपने शौहर को बस में करने का वजीफा और शोहर को अपनी तरफ करने का वजीफा बता रहे है. इसे शौहर को अपना दीवाना बनाने का वजीफा भी कहा जाता है.

Shohar Ko Kabu Karne Ka Wazifa

हमारी सोसायटी में, पुरुष प्रभुत्व ज्यादातर क्षेत्रों में है और विवाह भी इससे अछूता नहीं है। विवाह संबंध में हमारे समाज में शौहर और बीवी दोनों के लिए अलग-अलग मानक हैं। और ये अंतर तब देखा जा सकता है जब पति के पास कोई अतिरिक्त वैवाहिक संबंध है, फिर भी कोई इसे गुनाह के रूप में नहीं देखता है।

शौहर को काबू में करने का वजीफा – Shohar Ko Kabu Karne Ka Wazifa, Tarika, Taweez, Dua, Qurani, Hindi, Urdu

जबकि उसी तरह से अगर बीवी का अतिरिक्त वैवाहिक संबंध हैं, तो समाज इसे महिला के लिए अपराध के रूप में मानता है। इस तरह के दोहरे मानकों ने समाज में महिलाओं की गरिमा को कमजोर किया है।

शादीशुदा होना एक अद्भुत एहसास है लेकिन यह बहुत जिम्मेदारी के साथ आता है। यहां यह सुनिश्चित करने के कुछ तरीकेऔर वजीफ़े दिए गए हैं कि आपका शौहर नियंत्रण में रहे और आपके लिए कभी कोई कठिनाई पैदा न करे।

शौहर को काबू में करने का वजीफाको पढ़ने का तरीका

  • “मेरे रब ! जो लोग अविश्वास करते हैं, उनके लिए हम परीक्षण न करेंऔर हमें क्षमा करो, हमारे खुदा,निश्चित रूप से ताकतवर, समझदार और रहम दिल हैं, जो बंदों की हमेशा सुनते हैं|”
  • इस वजीफा को बिस्तर छोड़ने से पहले 21 दिनों तक नियमित रूप से जप करना चाहिए। यदि संभव हो तो वजीफा का पाठ तब करें जब शौहर आपकी तरफ से सो रहा हो। लेकिन यह सुनिश्चित करें कि शौहर को इस पद्धति के कार्यान्वयन के बारे में कभी भी पता नहीं होना चाहिए।
  • इस वजीफ़ा को पढ़ने से जो ऊर्जा निकलती है, वह आसानी से शौहर के शरीर में मिल जाएगी और आपको उसके दिमाग / दिल में जाने वाली हर चीज का पता चल जाएगा। यदि आप कुछ भी बदलना चाहते हैं, तो आप कर सकते हैं क्योंकि अब आपके पास अपने शौहर पर पूर्ण नियंत्रण है।
  • इस तरह से यह वजीफ़ा, बिना किसी को नुकसान पहुंचाए बिना शौहर पर क़ाबू करने में मदद करता हैं|

अपने शौहर को बस में करने का वजीफा

अपने शौहर को बस में करने का वजीफा – Apne Shohar Ko Vash Me Karne Ka Wazifa, Tarika, Taweez, Dua, Qurani, Hindi, Urdu, मियां बीवी का रिश्ता बहुत ही अनोखा होता हैं| कभी तो इन के बीच बहुत प्यार होता हैं और कभी बहुत तकरार होता हैं|

यदि मियां-बीवी के बीच अक्सर झगड़े होते रहते हैं, तो बीवी अपने शौहर को वश में करने के लिएकुछ कारगर वजीफों का इस्त्माल कर सकती हैं|

इस तरह के वजीफों को उचित तरीके से ढालने के लिए आपको किसी’ विशेषज्ञ के मार्गदर्शन की आवश्यकता होती हैं|विशेषज्ञ द्वारा बताए गए तरीकों का वर्णन नीचे दिया हुआ हैं:-

Apne Shohar Ko Vash Me Karne Ka Wazifa

  • वजीफ़ा पढ़ कर किसी पर तिलिस्म के द्वारा, किसी के दिमाग को नियंत्रित करने और अपने तरीके से चीजों को बनाने के लिए, एक बहुत शक्तिशाली तरीका है।
  • आप अपने जीवन में ब्लैक मैजिक के सकारात्मक प्रभावों को देखेंगे अगर आप ऐसा पूरी तरह से किसी विशेषज्ञ के जादू के विशेषज्ञ के मार्गदर्शन में करते हैं।
  • अपने शौहर को वश में करने के लिए आप रात को सोते समय शौहर के सिर से 2 या 3 बाल तोड़ लें|
  • अब इन बालों को हाथ में लेकर इस वजीफ़ा को 22 मर्तबा पढे;-“हातिमतुल्लाह आमीन शकीबे शौकत नुरे रहमान रकीबा नुरे फतेहा|”
  • वजीफ़ा पढ़ने के बाद खुदा को दिल से याद कर इन बालों पर तीन बार फूँक मारे| सुबह शौहर के जगने से पहले इन बालों को जला दें|
  • यह ब्लैक मैजिक आपके शौहर के दिमाग का कंट्रोल आपके हाथ में दे देता हैं| अब आप जैसा चाहेंगी आपके शौहर वैसा ही करेंगे|
  • यह बहुत ही असरदार तरीका हैं| इस वजीफा का प्रयोग कर के बीवियाँ शौहर के साथ-साथ अपने ससुराल के परिवार के सदस्यों को भी नियंत्रण में रख सकती हैं|

शोहर को अपनी तरफ करने का वजीफा

शोहर को अपनी तरफ करने का वजीफा – Shohar Ko Apni Taraf Karne Ka Wazifa, Tarika, Taweez, Dua, Qurani, Husband, Apne, Hindi, Urdu, आज कल के टीवी सिरियल के दौर में बीवियाँ नाटक में जो देखती हैं, वो अपने शौहर पर भी आज़माना चाहती हैं|

यदि नाटक में दिखा दिया कि किसी के शौहर ने आधी रात को कुछ लाकर अपनी बीवी को दिया हैं, तो बीवियाँ भी ऐसा ही डिमांड अपने शौहर से करती हैं|

परंतु यह असली ज़िंदगी हैं और यहाँ ऐसा नहीं होता हैं| लेकिन आपको यह जानकार ताजुब्ब होगा कि आप इस्लाम में बताए गए वजीफ़ा को पढ़ कर अपने शौहर को अपनी तरफ कर सकती हैं| ऐसा कर लेने पर आप जो भी, जैसा भी कहेंगी आपके शौहर वही करेंगे|

Shohar Ko Apni Taraf Karne Ka Wazifa

  • ईशा की नमाज़ के बाद ताजा वज़ू बना कर दारुदे-इब्राहिम को तीन बार पढ़े| इसके बाद कुरान की आयतों का पाठ करे| रात को सोते समय अल-हदिशी का पाठ करे|
  • उपयुक्त वजीफ़ा वशीकरण द्वारा पति के मन को प्रभावित करने और उन्हें अपनी ओर आकर्षित करने की प्रक्रिया हैं ताकि वे आपके बारे में और आपके भले के लिए ही सोचें। ये सफेद तिलिस्म हैं, जो किसी को नुकसान पहुंचाए बिना आपके लिए अच्छा करने की क्षमता रखते हैं।
  • इस वजीफ़ा का उपयोग करने के लिए हमेशा इस्लाम में बताये सही तरीकों का पालन करने की कोशिश करें जैसे कि वजीफ़ा का उपयोग करते समय आपकी बैठने की स्थिति, समय और अन्य चीजों का ध्यान रखना।
  • उदाहरण के लिए, इस वजीफ़ा का जादू केवल दिन के समय काम करने के लिए बाध्य है, तो रात के दौरान इसका उपयोग करने का कोई मतलब नहीं है। वजीफ़ा को पढ़ते समय अपने शरीर की स्थिति या आपके सामने की दिशा जैसे छोटी से छोटी चीजों का भी ध्यान रखें, तभी यह अपना असर दिखाएगा|
  • यदि आपने उपयुक्त बताये हुए निर्देशों का पालन करते हुए इस वजीफ़ा का नियमित पाठ किया तो आपके शौहर हमेशा आपके ही साइड रहेंगे| वो कभी भी आपसे अपना मुँह नहीं मोड़ेंगे|

शौहर को अपना दीवाना बनाने का वजीफा

शौहर को अपना दीवाना बनाने का वजीफा – Shohar Ko Apna Deewana Banane Ka Wazifa, Tarika, Taweez, Dua, Qurani, Husband , Apne, Hindi, Urdu, गालिब की एक बहुत ही प्रसिद्ध शायरी हैं- “इश्क ने हमको कर दिया निकम्मा गालिब,वरना आदमी हम भी कुछ काम के थे|” शायद इश्क चीज ही ऐसी हैं|

यदि आप भी चाहती हैं कि आपके शौहर भी इसी कदर आपकी दीवानगी में डूबे रहे, तो आप वजीफ़ा का प्रयोग कर अपने शौहर को अपना दीवाना बना सकती हैं| इसके लिए आप को क्या करना होगा इसका वर्णन नीचे किया गया हैं:-

Shohar Ko Apna Deewana Banane Ka Wazifa

  • कुरान के आयात (पृष्ट संख्या 141) में,अल्लाह- ताला इरशाद फरमाते है : – अपने रब की ईबादत करो|एक तो वो ( अल्लाह ) तुम्हारा रब हैं और उसने तुम्हें पैदा भी किया हैं, कितनी शान की बात हैं| अल्लाह कीआप तख़्लिक भीकरे और फिर तर्बियत भी करें|
  • पाँच वक्त के नमाज के साथ ऊपर लिखे दुआ को रोज दुहराये|फिर अपने दोनों हाथों को उठा कर अल्लाह से सजदा करे- “तो क्या रब पर मेरा हक़ नहीं हैं कि अल्लाह के आगे सज्दा किया जाए …और उनसे अपनी मुराद मनवायी जाए|
  • नेक दिल से की गयी दुआ सीधे अल्लाह-ताला तक पहुँचती हैं| आप भी अपने मकसद में कामयाब हो जाएंगी| आप के शौहर ताउम्र आपके ही प्यार में पागल रहेंगे|
  • यकीनन इस्लाम ही एक ऐसा धर्म हैं, जिसकी इल्म की ताक़त से आप इस दुनिया की किसी भी मुसीबत का सामना कर सकते हैं| कुरान और हदीसों में मुस्लिम समाज के लोगों के लिए ऐसी तमाम दुआओं और वजीफों का जिक्र हैं,

जिनकी मदद से आपके बिगड़े काम बन जाते हैं| आज हमने इस लेख में शौहर को वश में करने वाले चमत्कारी वजीफों के बारे में जाना हैं, जो सतप्रतिशत परिणाम देने वाले हैं|

Kai gharo mai shohar bade aalsi or manmoji type ke hote hai, wo apni marji se kuch karte hai or kuch nahi isliye aise gharo mai ladaiya hoti rahati hai.

Aaaj hum aapko Shohar Ko Kabu Karne Ka Wazifa, Tarika, Taweez, Dua, Qurani, Hindi, Urdu or Apne Shohar Ko Vash Me Karne Ka Wazifa, Tarika, Taweez, Dua, Qurani, Hindi, Urdu bata rahe hai.

Ise Shohar Ko Apni Taraf Karne Ka Wazifa, Tarika, Taweez, Dua, Qurani, Husband , Apne, Hindi, Urdu ya Shohar Ko Apna Deewana Banane Ka Wazifa, Tarika, Taweez, Dua, Qurani, Husband , Apne, Hindi, Urdu bhi kaha jata hai.

If you need any type of help and Guidance talks to us without any hesitation. In Sha Allah we will solve your problem.

Enquiry Form

किसी के दिल की बात जानने का वजीफा


किसी के दिल की बात जानने का वजीफा – Kisi Ke Dil Ki Baat Janne Ka Wazifa, Amal, Tarika, Dua, Upay, बहुत बार ऐसा होता है की आप किसी के दिल के बात जानना चाहते है पर वो आपको नहीं बताता इसके लिए आप इस्तेमाल करे हमारा किसी लड़की के दिल की बात जानने का अमल या बीवी के दिल का राज़ जानने की दुआ. इसके अलावा हम आपको मेहबूब के दिल की सच्चाई जानने का वजीफा भी बता है

Kisi Ke Dil Ki Baat Janne Ka Wazifa

किसी के दिल में क्या है, यह समझना आसान नहीं होता। जबकि प्रत्येक प्रेमी युगल या दंपति की यह चाहत रहती हैं कि वे एक-दूसरे के दिल यानी मन की बात को बगैर बताए जान लें। इससे उनके बीच आपसी प्रेम की प्रगाढ़ता झलकती है। आपसी मोहब्बत पर भरोसा मजबूत होता है।

वे एक-दूसरे की इज्जत करते हैं और परिवार-समाज में भी इज्जत पाते हैं। कई बार तो इसकी अनुभूति सहजता से हो जाती है, जबकि इस अनुभूति को पाने के लिए काफी जतन भी करने होते हैं। हर महबूब अपनी महबूबा को बेशुमार मोहब्बत का विश्वास दिलाने के लिए उसके दिल की गहराइयों में उतरना चाहता है।

किसी के दिल की बात जानने का वजीफा – Kisi Ke Dil Ki Baat Janne Ka Wazifa, Amal, Tarika, Dua, Upay

इसी तरह से एक शौहर अपनी बीवी के प्रति जिम्मेदार-वफादार बनने के लिए उसकी दिली-तमन्ना को उसके बताए बगैर जानना चाहता है। इसमें सफलता भावनात्मक अनुभूतियों पर निर्भर करती है। वह सब तभी संभव हो सकता है यदि अल्लाह ताला की मेहरबानी हो।

यह सर्वविदित है कि उनकी मर्जी के बगैर एक पत्ता भी नहीं हिल सकता। अल्लाह की इबादत से उनकी मर्जी हासिल की जा सकती है और कुरान मंे दिए गए वजीफे की बदौलत महबूबा या बीवी के दिल का हर राज, या कहें मन की तह में छिपी सच्चाई को समझा जा सकता है।

दिल का राज मालूम करने वाले वजीफे के बताए गए नियमों के अनुसार अमल करने से उसके लाख छुपाने पर भी उसकी हकीकत नहीं छुप पाएगी।

किसी लड़की के दिल की बात जानने का अमल

किसी लड़की के दिल की बात जानने का अमल – Kisi Ladki Ke Dil Ki Baat Janne Ka Amal, Wazifa, Tarika, Dua, Upay, जब एक लड़का चाहता है कि उसकी जिंदगी आई लड़की का दिल जीतने में सफल हो जाए, तब सिर्फ प्यार के इजहार, उपहारों की भंेट और सोशल मीडिया से प्रेम-प्रदर्शन की बातें लाइक-शेयर जैसी आदतें ही काफी नहीं होती।

लड़का जबतक लड़की के दिल की बात को जानने में सफल नहीं होता, तबतक उसके प्रेम में सफलता मिलने की गारंटी नहीं दी जा सकती। उसे इस्लामी इबादत के तरीके को भी अपनाने चाहिए।

इसके लिए जुम्मे की नमाज के दिन काजल के इस्तेमाल के साथ बताए गए वजीफे के अमल की सलाह दी जाती है। उसका तरीका है-

Kisi Ladki Ke Dil Ki Baat Janne Ka Amal

  • जुम्मे के दिन सुबह नौ बजे पाक-साफ होकर एकांत जगह पर जाएं। साथ में हरे रंग का रूमाल, काजल की डिब्बी, लड़की की तस्वरी और गुलाबजल रखें।
  • सुकून से बैठकर अल्लाह पाक को याद करते हुए बिस्मिल्लाह पढ़ें।
  • आंखें बंद कर दिल से उस लड़की का ख्याल करें, जिसे महबूबा बनाना चाहते हैं। फिर सात बार इस्लामिक दुआ पढ़ें।
  • रूमाल को बिछा दें और उसपर लड़की की सीधी तस्वीर रखें। काजल की डिब्बी भी रखें। फिर सात बार वजीफे की खास दुआ को पढ़ें।
  • तस्वीर वाली लड़की की आंख में थोड़ा काजल लगाकर उसी उंगली से अपनी आंख में भी लगा दें। तस्वीर को रूमाल में लपेट लें और 14 बार दुआ पढ़ते हुए उसपर हर बार गुलाबजल के छींटे मारंे।
  • रात को रूमाल लिपटी तस्वीर तकिए के नीचे रखकर सो जाएं। उसके बाद जब भी लड़की से मिलेंगे तब उसकी आपसे मिलने को बेकरारी का भी ऐहसास होगा। आप उसके पसंद-नापसंद को आसानी से समझ लेंगे। आपके उपहार को वह तहेदिल से लगाएगी।

बीवी के दिल का राज जानने की दुआ

बीवी के दिल का राज जानने की दुआ – Biwi Ke Dil Ka Raaz Janne Ki Dua, Wazifa, Amal, Tarika, Upay, हर शौहर चाहता है कि उसकी बीवी उसके इशारों पर चले। उसके दिल में कुछ भी छिपा नहीं रहे। वैसे ‘दिल का राज’ जानने का मतलब दिल मंे बनी मोहब्बत से है।

बीवियां कई राज अपने दिल में शौहर से छिपाए रखती हंै। वह कुरान में दिए गए आयतें सुराह अदद 31, और लुकमान आयत 30 का एक हिस्सा –

अन्नल्लाहा हुवल, अलिय्युल कबीर और अल्लाही बुलन्द मरतबा बुजुर्ग है।

इस वजीफे को यदि सही तरीके से पढ़ लिया जाए तब बीवी अपने दिल का राज कभी भी नहीं छिपा पाएगी। इस अमल को किसी भी शुरू करने और पढ़ने का तरीका इस प्रकार हैः-

Biwi Ke Dil Ka Raaz Janne Ki Dua

  • इस वजीफे को अपनी सुविधानुसार घर के किसी एकांत जगह पर बैठकर मगरिब के नमाज के बाद पढ़ना चाहिए।
  • वजीफे को 49 बार पढ़ें। उसके बाद अल्लाह से दोनों हाथ फैलाकर मन्नत मांगे कि बीवी के दिल में क्या है जानने की उसमें कुव्वत और कैफियत पैदा करे।
  • इस वजीफे को निश्चित समय पर प्रतिदिन पढ़ें। एक हफ्ते में ही आप स्वयं में फर्क महसूस करेंगे, लेकिन 21 दिनों में पूरी कैफियत आ जाएगी।
  • बीवी अनकही बातें बताने में जरा भी नहीं हिचकेगी। वैसे इस अमल की कोई मियाद नहीं होती है। जबतक इसे पढ़ते रहेंगे तबतक आपमें वह कुव्वत बनी रहेगी।
  • इसे किसी के दिल का राज या सच्चाई जनने का जादूई तरीका समझने की भूल नहीं करें, क्योंकि जेहन में ऐसे ख्यालात आ सकते हैं। ध्यान रहे कि इस आधार पर बेवजह बीवी पर शक-सुबह करना गलत होगा।

महबूब के दिल की सच्चाई जानने का वजीफा

महबूब के दिल की सच्चाई जानने का वजीफा – Mahaboob Ke Dil Ki Sacchai Janne Ka Wazifa, Amal, Tarika, Dua, Upay, हर महबूबा भी चाहती है कि उसका मेहबूब सच्चा, नेक दिल, मेहनती और दूसरों का मददगार इंसान हो। साथ उसकी तमन्ना रहती है कि जब वह शौहर बन जाए तब उसकी हर बात माने और उससे कोई राज नहीं छिपाए।

यही उसकी मोहब्बत का विशेष आधार होता है और मेहबूब के दिल की सच्चाई का पता लगाने की कोशिश करती है। इसमें किसी तरह की उलझन आने या दुविधा में पड़ने की स्थिति में महबूबा चाहे तो इस्लामी तरीका इस्तेमाल कर सकती है।

यह अल्लाह की इबादत से जुड़ा नियमित किया जाने वाला काम है। यहां बात मेहबूब के दिल का राज जानने से अधिक उसकी ईमानदारी को समझने की है। इसकी अंदरूनी क्षमता उसमें वजीफे को लगातार पढ़ने से आ सकती है और मेहबूब की सच्चाई के प्रति एक आत्मविश्वास पैदा हो सकती है।

Mahaboob Ke Dil Ki Sacchai Janne Ka Wazifa

  • इसकी शुरूआत जुम्मे के रोज से प्रातः पाक-साफ होकर घर के एकांत कोने में नामाज पढ़ने से किया चाहिए। इसे हैज के दिनों को छोड़कर हर रोज पढ़ें।
  • नमाज पढ़ने के बाद कुरान में दिए गए आयतों के वजीफे को 21 बार पढ़ें।
  • इसके पहले और अंत में सात-सात बार दुरूदे शरीफ अवश्य पढ़ें।
  • उसके बाद अल्लाह से मेहबूब के दिल में उसके प्रति सच्चाई जानने की क्षमता पैदा करने की दुआ करें।
  • कुछ रोज में ही आपमें सच्चाई मालूम करने के इल्म की कैफियत आ जाएगी। यह उस वजीफे का ही असर होगा, जिसे लगातार पढ़ते रहें।
  • Kai baar aapko lagta hai ki samne wala bol kuch or raha hai or sacchai kuch or hai, per fir bhi aap jaan kar bhi kuch nahi kar pate.

Isliye aaj hum aapko Kisi Ke Dil Ki Baat Janne Ka Wazifa, Amal, Tarika, Dua, Upay or Kisi Ladki Ke Dil Ki Baat Janne Ka Amal, Wazifa, Tarika, Dua, Upay bata rahe hai.

Yadi aap apni biwi ke dil ka raaz pata karna chahate hai to istemaal kare hamara Biwi Ke Dil Ka Raaz Janne Ki Dua, Wazifa, Amal, Tarika, Upay.

Mahaboob ke liye hai hamara Mahaboob Ke Dil Ki Sacchai Janne Ka Wazifa, Amal, Tarika, Dua, Upay.

If you need any type of help and Guidance talks to us without any hesitation. In Sha Allah we will solve your problem.

Enquiry Form

नाजायज रिश्ते को खत्म करने का वजीफा


नाजायज रिश्ते को खत्म करने का वजीफा – Naajayaz Rishte Ko Khatam Karne Ka Wazifa, Dua, Amal, Tarika, Upay, हम सभी जानते है की नाज़ायज़ रिश्तो का अंत बहुत बुरा होता है इसलिए आज हम आपको नाजायज ताल्लुकात खत्म करने का अमल और शोहर को दूसरी औरत से बचाने की दुआ बता रहे है. हम आपको शोहर के नाजायज औरत से रिश्ता खत्म करने का वज़ीफ़ा भी बतायेगे

Naajayaz Rishte Ko Khatam Karne Ka Wazifa

शादी दो लोगों के बीच एक अनोखा बंधन है जो उन्हें सामान्य मूल्यों, प्रेम और प्रतिबद्धता के आधार पर भावनात्मक और आध्यात्मिक रूप से यौन संबंध से जोड़ता है।

अंतरंग बंधन के टूटने में योगदान करने वाली परिस्थितियाँ, यानी, एक अतिरिक्त-वैवाहिक संबंध या नाजायज़ संबंध, विविध हैं, लेकिन इसमें ज़्यादातर भावनात्मक ऊर्जा का हस्तांतरण शामिल होता है, जो कभी वैवाहिक सद्भाव और परिवार और बच्चों के लिए अन्य स्रोतों जैसे करियर और बाहर के हितों और दोस्तों के लिए निर्देशित था।

नाजायज रिश्ते को खत्म करने का वजीफा – Naajayaz Rishte Ko Khatam Karne Ka Wazifa, Dua, Amal, Tarika, Upay

इन शर्तों के तहत लोग अपने रिश्ते के बाहर के किसी व्यक्ति के साथ भावनात्मक और आध्यात्मिक रूप से जुड़ सकते हैं, जिससे उन्हें स्वीकृति और समझ की आवश्यकता होती है। नाजायज़ संबंध वैवाहिक जीवन के लिए एक प्रकार का कुठराघात हैं|आज हम इस लेख में नाजायज़ संबंध को ख़त्म करने के लिए इस्लामी उपायों की चर्चा करेंगे|

नाजायज रिश्ते को खत्म करने का वजीफा और प्रयोग विधि

  • अतिरिक्त वैवाहिक रिश्ते जो कि एक सौम्य रूप से शुरू होते हैं, लेकिन बाद में प्राथमिक वैवाहिक संबंधों के लिए एक गंभीर खतरा बनकर विकसित हो सकते हैं। नाजायज़ संबंध को अपने जीवन से पूर्णतया हटाने के लिए आप निम्न उपाय करे
  • सहर और ईशा के नमाज के बाद अपने सामने अलावा जला कर खुद की और जीवनसाथी के द्वारा ईस्त्माल किए हुए किसी भी कपड़े को ले कर उसे थोड़ा थोड़ा काट कर अलावा में डालते हुए इस वजीफ़ा को दुहराये-“अल्लाह राजुतेलह रुकाईया धिक्कार वस तिल वुजू नस्ट्रोदस वासेतुल्लाह रहीम|”
  • इस प्रक्रिया को 21 दिनों तक लगातार करे| कपड़े के राख को 21 दिनों के बाद इकट्ठा जमीन में दबा दें|
  • इस उपाय के असर से यदि आपके निकाह में नाजायज़ संबंध की वजह से कोई दिक्कत आ रहीं होगी, तो वह बिलकुल दूर हो जाएगी|

शोहर को दूसरी औरत से बचाने की दुआ

शोहर को दूसरी औरत से बचाने की दुआ – Shohar Ko Dusri Aurat Se Bachne Ki Dua, Wazifa, Amal, Tarika, Upay, वैसे तो इस्लाम में हर मर्ज की दावा हैं, लेकिन यदि आप शादीशुदा ज़िंदगी के कठिन दौर से गुजर रहे हैं, जहाँ आपका साथी किसी के साथ एक ऐसे नाजायज़ समबंध में लिप्त हैं जिसने कई जिंदगियों को तबाह कर दिया है, तो आपको इस्लाम में उल्लेखिल वशीकरण अमल का उपाय करनी चाहिए|

इस विधि में दो तरह के उपचार (बरबादी) हैं। पहला, शौहर को अपने वश में कर सकते हैं, अथवा दूसरा शौहर की प्रेमिका को उससे दूर कर दें|

Shohar Ko Dusri Aurat Se Bachne Ki Dua

  • शौहर को वश में करने के लिए वुजू बना लें जो कि आपकी शुद्धता के लिए जरूरी हैं| अब अपनी निकाह की सुरक्षा के लिए बहुत सारे धिक्कार और दुआओं का पाठ करके अल्लाह के साथ शरण लें|
  • सुनिश्चित करें कि पर्यावरण स्वच्छ और शुद्ध हो,गंदी जगह पर दुआ कर प्रदर्शन न करें| अगर शौहर के ज़िंदगी से महिला को निकालना हैं, तो सुनिश्चित करें की आप उससे सीधे संपर्क ना करें| दुआओं को पढ़ने के बाद नीचे दिये हुए वजीफ़ा को कम से कम 100 बार पढ़े|
  • अल्लाह तू बहुत ही सबब देने वाला हैं, और जो लोग उसके अलावा अपने आपको रक्षक कहते है, जो ख़ुदा के पैगबर हैं”हम केवल उनकी इबादत करते हैं कि वे हमें हर स्थिति में अल्लाह के पास ला सकते हैं और हमें हमारे मौलाह से रकीब करवा सकते हैं|”
  • इस क्रियाकलाप को तब तक जारी रखे जब तक वह औरत आपके शौहर से दूर नहीं हो जाती हैं| ऐसा बहुत जल्द होगा क्यूंकी इस वजीफ़ा के प्रयोग से आपका आपके शौहर पर पूर्ण नियंत्रण स्थापित हो जाएगा, जिस कारण आपके शौहर और उनकी प्रेमिका के बीच अनबन होने लगेगा|

नाजायज ताल्लुकात खत्म करने का अमल

नाजायज ताल्लुकात खत्म करने का अमल – Naajayaz Taluqat Khatam Karne Ka Amal, Dua, Wazifa, Tarika, Upay, इस बात पर बहुत बहस हुई है कि नाजायज़ संबंध हराम है या नहीं। कुछ लोग कहते हैं कि इस का रहना ठीक है।

लेकिन सही मन वाला कोई भी व्यक्ति ऐसा कैसे सोच सकता है कि नाजायज़ संबंध किसी भी स्थिति में सही हो सकता हैं| हम में से अधिकांश लोग इन दिनों जब ऐसे रिश्तों में फंस जाते हैं, तो इससे निकालना मुश्किल हों जाता हैं|

आइये जानते हैं कि इस्लाम का पालन करते हुए हम नाजायज़ ताल्लुक को कैसे खत्म कर सकते हैं|

Naajayaz Taluqat Khatam Karne Ka Amal

  • नाजायज ताल्लुकात खत्म करने का अमल- हमारे प्रिय पैगंबर से प्रामाणिक रूप से समर्थन मिलने के लिए हमें खुद को शुद्ध करना आवश्यक हैं| जब हम अल्लाह से प्रार्थना करते हैं कि उसके लिए कुछ विशिष्ट शिष्टाचार देखे जाएं| अल्लाह के सामने आप जवाबदेह हैं,अपने हर एक करतूत के लिए| इस लिए यदि आप हराम में लिप्त हैं, तो सजदा करें और नीचे दिये हुए अमल को आजमाए|
  • हर जुम्मे के दिन ईशा के नमाज के बाद थोड़े से सरसों के दाने को हाथ में लेकर इस वजीफ़ा को 21 बार पढे- “अल्लाहू रसमेदिन राजेमुल्लाह रहमते रसूललाह रहीम”|
  • अब इन सरसों दाने को अपने सोने वाले कमरे के बेड पर छिड़क दें| कुछ सरसों के दानो को तकिये के नीचे भी रख दें| अगली सुबह इस चादर को सावधानी से हटाये ताकि सरसों दाने जमीन पर न गिर पाएँ| अब इन दानों को इकट्ठा कर के जला दें|
  • इस अमल से यदि आप नाजायज़ ताल्लुकात से परेशान हैं, तो आपको जल्द ही इससे मुक्ति मिल जाएगी|

शोहर के नाजायज औरत से रिश्ता खत्म करने का वज़ीफ़ा

शोहर के नाजायज औरत से रिश्ता खत्म करने का वज़ीफ़ा – Shohar Ko Najaiz Aurat Se Rishta Khatam Karne Ka Wazifa, Dua, Amal, Tarika, Upay, शौहर का यदि किसी दूसरी औरत से रिश्ता हों, तो शादी-शुदा ज़िंदगी अज़ाब बन जाती हैं| इससे आपकी जाती ज़िंदगी तो तबाह होती ही हैं,

आपके बच्चों के परवरिश पर भी असर होता हैं|शौहर के नाजायज औरत से रिश्ता खत्म करने के लिए आप निम्न वजीफ़ा का उपयोग कर के अपनी ज़िंदगी से समस्या को हमेशा के लिए समाप्त कर सकती हैं|

Shohar Ko Najaiz Aurat Se Rishta Khatam Karne Ka Wazifa

  • साफ सुथरी जगह पर वुजू बना कर बैठ जाए| अब अल-हदिशी का 3 बार पाठ करे| इसके बाद कुरान कि आयतों को पढ़े और फिर से अल-हदिशी का 3 बार पाठ करे|
  • पाठ करते हुए ना बीच में बोले ना रुके| अब अपने दोनों हाथ उठा कर रब से दुआ करे-“या खुदा तू ही सुन, मेरे मन कि सुन, मेरी नैया बीच भंवर में पार लगा, मेरे शौहर के बिगड़े मन को राह पर ले आ, तू बड़ा दिलवाला मेरी बिगड़ी बना आमीन|”
  • इस दुआ को आप रोज कम से कम 21 बार पढ़े| सोते जागते इसे आप कभी भी पढ़ सकती हैं|
  • जब आप प्रार्थना कर चुके हैं और बैठे हैं, तो अल्लाह की प्रशंसा करें क्योंकि वह प्रशंसा करने का पात्र है, और आप पर आशीर्वाद भेज रहा है, फिर उसे पुकारे की वही रहीम और करीम हैं|
  • आपकी दुआ अल्लाह कबूल करेगा और आपके शौहर को सही राह दिखाएगा| आपके शौहर कि आँख खुल जाएगी और वो अपने तमाम नाजायज़ तालुक्कात ख़त्म कर देंगे|
  • इस्लाम में नाजायज़ संबंध हराम हैं, और ऐसे लोगों को रब दोज़ख में भेजता हैं| इसलिए जितनी जल्दी हो सके इससे निकल जाए| यदि आप नाजायज़ संबंध से परेशान हैं, तो इसे ख़त्म करने के लिए अल्लाह पर भरोसा रखे और पूरे निष्ठा से लेख में दिये हुआ अमलों को आजमाए|किसी भी अमल या वाजीफ़ा से ज्यादा जरूरी हैं नाजायज ताल्लुकात को खत्म करने के लिए आपकी खुद कि इच्छा शक्ति| यदि ये आपके पास हैं तो आप एक दिन जरूर सफल होंगे|

Aap sabhi jante hai ki Najaiz riston ka last bahut bura hota hai or isse na jane kitne zindki kharab ho jati hai, isliye aaj hum aapko Naajayaz Rishte Ko Khatam Karne Ka Wazifa, Dua, Amal, Tarika, Upay bata rahe hai.

Yadi aap ke shohar kisi ke sath Najaiz sambandh hai to hum aapko laye hai Shohar Ko Dusri Aurat Se Bachne Ki Dua, Wazifa, Amal, Tarika, Upay or Shohar Ko Najaiz Aurat Se Rishta Khatam Karne Ka Wazifa, Dua, Amal, Tarika, Upay.

Aaj hi hamare Naajayaz Taluqat Khatam Karne Ka Amal, Dua, Wazifa, Tarika, Upay upyog kare or apne pariwar ko bachaye.

If you need any type of help and Guidance talks to us without any hesitation. In Sha Allah we will solve your problem.

Enquiry Form

काला जादू करने वाले की पहचान का वजीफा


काला जादू करने वाले की पहचान का वजीफा – Kala Jadu Karne Wale Ki Pehchan Ka Wazifa, Dua, Amal, दोस्तों कई बार ये देखा गया है की किसी ने आप पैर या आपके किसी जानकर पैर कला जादू कर दिया और न तो कोई डॉक्टर न हे कोई बाबा उसको पाचन पा रहा है,

काला जादू करने वाले की पहचान का वजीफा – Kala Jadu Karne Wale Ki Pehchan Ka Wazifa, Dua, Amal

इसलिए आज हम आपको काला जादू करने वाले की पहचान का वजीफा बता रहे है. हम आपको काला जादू खत्म करने का वजीफा और काला जादू वापस करने का इस्लामी तरीका भी बतायेगे। इसके अलावा आज हम आपको काला जादू का तोड़ कुरान से भी बतायेगे।

Kala Jadu Karne Wale Ki Pehchan Ka Wazifa

काला जादू किसी आफत की तरह आता है, जिसका शिकार कोई व्यक्ति या पूरा परिवार हो सकता है। इस खतरनाक जादू का हमला चैतरफा होता है।

मानिसिक उलझन, आपसी रिश्ते में तनाव, अप्रत्याशित घटनाएं-दुर्घटनाएं, झगड़े-झंझट, बीमारी, मुकदमे, पैसे का नुकसान, आर्थिक तंगी, यहां तक यह मौत का कारण भी बन सकता है।

एक के बाद एक जब आफत आने लगती है, तब इंसान जितना संभलने की कोशिश करता है, उतना ही उसकी दलदल में धंसता चला जाता है। यह एक कुटिल और बुरे मिजाज वाले इंसान द्वारा अपने स्वार्थ के लिए दूसरे इंसान पर किया जाने वाला अदृश्य हमला होता है।

जबतक इसकी पहचान नहीं हो पाती कि काला जादू किया किसने है, तबतक इसे खत्म नहीं किया जा सकता है। इस्लामी वजीफे में इसकी पहचान के साथ-साथ खात्मे का तरीका भी दिया गया है।

वह वजीफा बेहद ही आसान है। इसकी जकड़ में आए व्यक्ति को किसी भी दिन रात को सोने से पहले तीन बार दरूदे इब्राहिम और फिर 41 मरतबा सूरह यासीन की आयत पढ़नी चाहिए।

उसके बाद फिर से तीन बार दरूदे इब्राहिम पढ़कर पानी पर दम करना चाहिए। उस पानी के आधे हिस्से को घर के कोने-कोने में छिड़कर बाकी पानी खुद पीने के साथ-साथ परिवार के सभी सदस्यों को पिला देना चाहिए।

ऐसा करने पर इंशाअल्लाह उसी रात ख्वाब में काला जादू करने वाले का चेहर दिख जाएगा। एकबार में ऐसा नहीं होने की स्थिति में लगतार इस वजीफे को सात दिनों तक पूरी शिद्दत के साथ करना चाहिए। इसी वजीफे से काला जादू की काट भी संभव है।

काला जादू खत्म करने का वजीफा

काला जादू खत्म करने का वजीफा – Kala Jadu Khatam Karne Ka Wazifa, Upay, Tarika, Taweez, Ilaj, Amal, Dua, एक बार काला जादू करने वाले की पहचान हो जाए तब उसकी ताकत का अंदाजा लग जाता है।

फिर उस काले जादू को वजीफे की मदद से हमेशा के लिए खत्म किया जा सकता है। जिस किसी पर काला जादू किया गया होता है, उसे देखकर ही उसकी बुरी स्थिति का अंदाजा लग जाता है।

सामान्यतः उसकी आंखों मंे अनिद्रा और डर देखा जा सकता है। बावजूद इसके कतई नहीं भूलना चाहिए कि जिंदगी में अनगिनत तकलीफें आ सकती हैं, लेकिन तबाही तबतक नहीं अएगी जबतक कि आप अल्लाहताल की खिदमत में बने रहेंगे।

इस्लामी वजीफे से काला जादू को बेअसर करने के लिए कुरान-ए-पाक की आयतों का नियमित पढ़ना चाहिए। इसके अमल के दौरान किसी भी तरह के परहेज की भी जरूरत नहीं होती है, किंतु इसे करने वाला व्यक्ति पाक-साफ स्थिति में हो।

Kala Jadu Khatam Karne Ka Wazifa

जैसे कोई औरत इसे करना चाहे तो वह इसे माहवारी के दिनों में नहीं करे। सबसे पहले 11 बार दुरूद-ए-अब्राहिम पढ़ें। उसके बाद सूरे फलक, सूरे नास की आयतों को 101 बार पढ़ें। उसके बाद जादू प्रभावित व्यक्ति पर दम करें। इस वजीफे को सुबह-शाम करें और तबतक करते रहें जबतक कि पीड़ित में बदलाव नहीं दिखे।

प्रतिदिन सुरे फलक को 20-20 बार पढ़ें। संभव हो तो गले में इसका नक्श भी डाल लें। इस वजीफे के दम किए हुए पानी का कार्यस्थल में छिड़काव करने से कारोबारी रूकावटें दूर की जा सकती हैं।

काला जादू वापस करने का इस्लामी तरीका

काला जादू वापस करने का इस्लामी तरीका – Kala Jadu Wapas Karne Ka Islami Tarika, Wazifa, Upay, Taweez, Ilaj, Amal, Dua, जब घर-परिवार में अचानक कुछ अप्रत्याशित घटनाएं होने लगे तब समझ लेना चाहिए कि किसी ने अपके परिवार पर कोई काला जादू कर दिया है।

कुछ लोग ऐसा अक्सर किसी की कामयाबी से जलन में कर बैठते हैं, जबकि वे यह नहीं जानते कि वही काला जादू पलटकर उसे भी अपनी गिरफ्त में ले सकता है। कारण कुरान-ए-पाक में इस तरह के किये-कराए गए काले जादू को वापस करने के तरीके दिए गए हैं।

इसकी पहचान के कुछ लक्षण होते हैं, जिन्हें जानकार मौलवी से मालूम किया जा सकता है। वैसे लगातार बिगड़ती सेहत और बेअसर दबाइयों से काला जादू लक्षण दिखती है।

इस्लामी दुआ के बताए गए तरीके इस्तेमाल कर वैसे काले जादू को वापस किया जा सकता है। र्कुआन में जादू निवारण के लिए आयतुल कुर्सी, सूरतुल आराफ, सूरत यूनुस और सूरत ताहा में जादू संबंधित आयतें दी गई हैं।

उनके साथ सूरतुल काफिरून, सूरतुल इख्लास और मुऔवजतैन (सूरतुल फलक और सूरतुन्नास) पढ़ी जाए तो जादू से आई मुसीबतों को वापस दूर फेंका जा सकता है। रोगनिवारण और अच्छे स्वास्थ्य की दुआ इस प्रकार है-

Kala Jadu Wapas Karne Ka Islami Tarika

‘‘अल्लाहुम्मा रब्बन्नास, अज्हिबिल्बास वश्फि अन्तश्शाफी, लो शिफाआ इल्ला शिफाउक्, शिफाअन् ला युगादिरो सकमा।’’

इस दुआ को पीड़ित के परिजन द्वारा लगातार सात रोज तक सोने से पहले पढ़ें। फिर तीन बार कुल हुवल्लहु अहद् और मुऔवजतैन को भी तीन-तीन बार दुहाराएं।

अंत में पानी पर दम कर उसे घर सभी हिस्से मंे छिड़कवाकर जादू प्रभावित व्यक्ति को भी पिला देना चाहिए। संभव हो तो पानी में बेरी के सात पत्ते कूटकर पहले से मिला लें।

काले जादू का तोड़ र्कुआन से

काले जादू का तोड़ र्कुआन से – Kale Jadu Ka Tor Quran Se, Tarika, Wazifa, Upay, Taweez, Ilaj, Amal, Dua, काला जादू चाहे जितना भी प्रभावी क्यों नहीं हो उसका तोड़ र्कुआन की आयातों में दिया गया है। उसे लगातार कम से कम सात दिनों तक पढ़ने के अलावा उस आयत को सफेद कागज पर लिखकर ताबीज के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है। या फिर उसकी बत्ती बनाकर जला दी जाती है। वह आयत है-

‘‘फल्लरहु खैरुन हाफिजन-व्वहुवा अर्र-हमर्र-राहमीना, अल्लाहुम्मा सल्ली अला सय्दििना व-नवबीना व मौलवना मुहम्मद व बारिक वसल्लिम।’’

काले जादू के काट की इस आयत को एक सफेद कागज पर उर्दू में लिखकर उसे सात तह तक मोड़ लें। इससे पहले ताजा वजु जरूर बनाएं। यदि खुद नहीं लिख सकते तो किसी जानकार मौलवी से लिखवाएं।

फिर काले धागे से बांधकर पीड़ित व्यक्ति के गले में, या यदि औरत है तो उसकी बालों की चोटी में बांध दें। उसके बाद इसे उसी आयत को 41 बार पढ़ें।

Kale Jadu Ka Tor Quran Se

इसे पढ़ने से पहले और बाद में 11-11 बार दुरूद शरीफ भी पढ़ें। यह काम अगर किसी औरत को करना हो तो बह माहवारी के दौरान नहीं करें। इसकी कोई मियाद निर्धारित नहीं है,

लेकिन सात, 11, 21 या 41 दिनों तक किया जाना चाहिए। अंतिम दिन ताबीज में रूई लपेटकर तेल में भिगो दें। फिर उसे लकड़ी की आग में डाल दें।

इसके अतिरिक्त कुछ वजीफे को लगातर पढ़ने से भी काले जादू की काट की जा सकती है। जैसे दिन में 11 बार दरूदू शरीफ पढ़ें। हर दिन में 7000 बार अल्लाह का नाम ‘या मुमीत-अ’ बोलें। ऐसा सात दिनों सुबह और रात सोने से पहले अवश्य करें।

kala jadu ek aisa tarika hai jisse aap apne dusman ya kisi ki bhi zindki kharab kar sakte ho ya usko maar sakte ho.

yadi aap ke upar kisi ne kala jadu kiya hai to sabse pahale usko pachanna jaruri hai or iske liye hum aapko batayege Kala Jadu Karne Wale Ki Pehchan Ka Wazifa, Dua, Amal.

kale jadu ko wapas karne ke liye hai Kala Jadu Wapas Karne Ka Islami Tarika, Wazifa, Upay, Taweez, Ilaj, Amal, Dua.

yadi aap chahate hai ki aapke upar jo kala jadu hai wo khatam ho jaye to aap istemal kare hamara Kala Jadu Khatam Karne Ka Wazifa, Upay, Tarika, Taweez, Ilaj, Amal, Dua.

iske tor ke liye hamare pas hai Kale Jadu Ka Tor Quran Se, Tarika, Wazifa, Upay, Taweez, Ilaj, Amal, Dua.

If you need any type of help and Guidance talks to us without any hesitation. In Sha Allah we will solve your problem.

Enquiry Form

किसी को मनाने का वजीफा


किसी को मनाने का वजीफा – Kisi Ko Manane Ka Wazifa, Dua, Tarike, Totke, Amal, कई बार ऐसा होता है की कोई हमारा चाहने वाला हमसे नाराज़ हो जाता है इसके लिए आज हम लाये है नाराज शौहर को मनाने का वजीफा और नाराज बीवी को मनाने की दुआ. इस दुआ को रूठे हुए महबूब को मनाने का अमल भी कहा जाता है

Kisi Ko Manane Ka Wazifa

आधुनिक समाज में गुस्सा दिखाना वर्जित है। हम नहीं जानते कि नकारात्मक भावनाओं को सही ढंग से कैसे व्यक्त किया जाए क्योंकि हम उन पर चर्चा करने या उन्हें दिखाने के लिए अभ्यस्त नहीं हैं। यही कारण है कि कई लोग तनाव की स्थिति में रहते हैं, लगातार अनसुलझे क्रोध और आक्रामकता से खुद को नष्ट कर रहे हैं।

किसी को मनाने का वजीफा – Kisi Ko Manane Ka Wazifa, Dua, Tarike, Totke, Amal

मनोवैज्ञानिक इस समस्या में सक्रिय रूप से लगे हुए हैं और यहां तक कि न्यूयॉर्क में एक गुस्सा अनुसंधान केंद्र भी है। हम भी अपने करीबी दोस्तों और परिवार के सदस्यों को गुस्से से निपटने में मदद कर सकते हैं।

यदि आपका भी कोई क़रीबी आपसे नाराज हैं, तो उसे मनाने के लिए आप नीचे दिये हुए वजीफ़ा का प्रयोग कर सकते हैं:-

  • रूठे को मनाने के लिए यह एक अत्यंत सफल इस्लामी दुआ है और इसे तहज्जुद नमाज़ के बाद किया जाना चाहिए। इसके अलावा इस वजीफ़ा या इस्लामी दुआ को बुधवार रात को किया जाना चाहिए।
  • शुरू में रुठे हुए को मनाने के लिए इस दुआ को पढ़ने वाले व्यक्ति को कई बार के लिए दुर्योध शरीफ को पढ़ना चाहिए। उसके बाद
  • “वा अल्लाह हू ‘अला मुआ बी‘ ए ‘दीकुम”
  • इस दुआ का इस्तेमाल करना चाहिए। इस दुआ को कई बार दुहराये।
  • इसके बाद उस व्यक्ति का नाम लें, जिसकी नाराजगी को तोड़ने की आवश्यकता है।
  • अंत में दुरूद शरीफ को कई बार पढ़े।
  • इंशा अल्लाह आपकी इच्छा पूरी हो जाएगी। बेहतर परिणाम के लिए 18 दिनों के लिए इस दुआ को कम से कम पढ़े| आप अपने मकसद में जरूर कामयाब होंगे|

नाराज शौहर को मनाने का वजीफा

नाराज शौहर को मनाने का वजीफा – Naraz Shohar Ko Manane Ka Wazifa, Tarika, Dua, Tarike, Totke, Amal, कुछ महिलाएं एक सक्रिय ज्वालामुखीके जैसे बार-बार नाराज होने वाले शौहर से परेशान रहती हैं। ऐसी बीवियाँ हमेशा एक सतर्कता की स्थिति में रहती है – हमेशा हर जगह उन्हे कुछ अनहोनी और पिघले हुए लावा के छींटे आने का डर सताता रहता हैं।

यहां तक कि एक छोटा प्रकोप भी तुरंत एक-संतुलन को डगमगा सकता है और एक पूरी तरह से प्यारा दिन बर्बाद कर सकता है।

गुस्सैल शौहर और ज्वालामुखी के बीच एक बड़ा अंतर यह है कि ज्व्लामुखी से एक से अधिक आसानी से दूर जा सकते हैं परंतु शौहर के गुस्से से नहीं भाग सकती हैं|

यदि आप भी कुछ ऐसी स्थिति में हैं, तो आपको नीचे दिये हुए वजीफ़ा का उपयोग कर अपने रूठे हुए शौहर को मनाना चाहिए:-

Naraz Shohar Ko Manane Ka Wazifa

  • किसी भी समस्या से पीड़ित होने पर पाठ करने के लिए यह सबसे अच्छा दुआ है। इस दुआ को हज़रत यूनुस अलैहि सलाम ने मछली के पेट में पढ़ा था। अल्लाह ने उनकी प्रार्थना स्वीकार कर ली।
  • साद इब्न वकास (राधिअल्लाहु अन्हु) ने बताया कि पैगंबर, सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम ने कहा, ” मछली के पेट में मछली के मालिक (पैगंबर यूनुस) द्वारा की गई दलील थी:
  • ‘ला इलाहा इल्टा अंता, सुभानका, सराय कुंटु मिनध-धालिमिन’
  • (कोई आम जन रब नहीं है लेकिन आप, आप बहुत महान हैं और सभी कमजोरियों से ऊपर हैं, और मैं वास्तव में गलत था)।
  • अगर कोई भी मुस्लिम इन शब्दों का विरोध करता है, तो उसके द्वरा किया गया यह अपमान स्वीकार नहीं किया जाएगा। ”
  • इस वजीफा को रात को सोते समय शौहर की ओर मुँह कर के कम से कम 100 बार पढे|सुबह जब शौहर नींद से जागेंगे, तो उनकी सारी नाराजगी ख़त्म हो चूकी होगी|
  • जब कभी भी आपके शौहर बिना कारण आपसे नाराज हो जाए , तो आप इस वजीफा का उपयोग कर उन्हे माना ले|

रूठे हुए महबूब को मनाने का अमल

रूठे हुए महबूब को मनाने का अमल – Ruthe Hue Mahbub Ko Manane Ka Amal, Wazifa, Tarika, Dua, Tarike, Totke, रूठे हुए महबूब को मनाने के लिए सर्वप्रथम अपनी गलती को मानते हुए उससे माफी मागनी चाहिए| परंतु यदि सामने वाला किसी भी प्रकार से मानने को तैयार नहीं हैं,

तो ऐसी परिस्थिति में इस्लाम में बताए गए अमल का उपयोग करअपने रूठे महबूब को माना सकते हैं| आइये हम इस अमल के प्रयोग विधि के बारे में जानते हैं:-

Ruthe Hue Mahbub Ko Manane Ka Amal

  • कुरान में व्यवहार के सबसे बुद्धिमान और सबसे प्रभावी मॉडल की वायख्या करने की कोशिश की गयी हैं, जो किसी ऐसे व्यक्ति के साथ व्यवहार करता है जो आपसे नाराज है। वह व्यक्ति उचित रूप से नाराज हैं या नहीं हैं, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता की आप क्या उपाय करते हैं: समस्या को हल करने के तरीके लगभग समान हैं।
  • इस अमल में आपको किसी भी प्रकार से अपने रूठे महबूब की इस्त्माल की हुई कोई चीज चाहिये होगा|
  • आधी रात को, उस वस्तु को अपने सामने रख कर सफ़ेद चादर बिछा कर आँगन में बैठ जाए| अब 3 बार अल-हाशिरी को पढे और उसके बाद कुरान की आयतों को पढे|
  • अब इस वजीफा को 22 मर्तबा दुहराये-
  • “सुराए नमहल अति अलददिशी हरफमौला वजितुल्लाये रहमने रहीम“
  • इस दुआ को पढ़ने के बाद उस वस्तु को वही आँगन में खुले आसमान के नीचे छोड़ दें और अगली सुबह किसी नदी में बहा दें|
  • अल्लाह-ताला की कृपा से आपका महबूब अपनी सारी नाराजगी भूल कर आपकी ज़िंदगी में दुबारा लौट आएगा|

नाराज बीवी को मनाने की दुआ

  • नाराज बीवी को मनाने की दुआ – Naraz Biwi Ko Manane Ki Dua, Tarike, Totke, Amal, Wazifa, Totke, यदि आपकी बीवी आपसे नाराज हो कर घर छोड़ कर चली गयी हैं, तो नाराज बीवी को माना कर घर वापस लाने के लिए आप निम्न इस्लामी उपाय को आजमाए:-
  • पीपल के पत्ते द्वारा रब से दुआ करें:- यदि आपकी बीवी आपसे नाराज होकर घर छोड़ कर चली गयी हैं, तो इस दुआ के माध्यम से आप अपनी बीवी को वापस अपनी ज़िंदगी में ला सकते हैं|
  • जुम्मे के दिन पीपल के दो पत्ते को तोड़ कर एक पर काजल से व दूसरे पर लाल कलम सेअपनी बीवी का नाम लिख दें| ध्यान रहे कि पीपल के पत्ते पीले हों तो चलेगा,परंतु सूखे हुए नहीं होने चाहिये|जिस पत्ते पर काजल सेनाम लिखा हैं, उसे पीपल के पेड़ के पास ही किसी पत्थर से दबा दे औरजिस पर कलमसे नाम लिखा हों,उसे घर कि छत पर उलटा कर के किसी पत्थर से दबा दें|
  • इस काम को लगातार अगले जुम्मे तक करें और जुम्मे के दिन दोनों जगहों से पत्तों को निकाल कर पत्नी का नाम लेते हुए इस दुआ को 22 मर्तबा पढे-
  • “वकारे मौलाना मुरादे सकबेतुललाह रहीम|”
  • वापस से इन पत्तों को पीपल के पेड़ के पास ही गड्ढेमें दबा दें| यह दुआ बहुत ही असरदर हैं| आपकी नाराज पत्नी 2 दिनों के अंदर-अंदर अपने माइके से वापस आपके पास आ जाएगी|

Naraz Biwi Ko Manane Ki Dua

रिश्ते हमारी भलाई के लिए आवश्यक हैं। अपने पूरे जीवनकाल में, हम नए लोगों से मिलते हैं और विभिन्न लोगों जैसे जीवनसाथी, माता-पिता, रिश्तेदार आदि के साथ रहते हैं, उनके साथ हमारा रिश्ता बहुत सारे कारकों पर निर्भर करता हैं,

जैसे प्यार और सम्मान|लेकिन कई बार तनाव और गलतफहमी के कारण उनके साथ तर्क, झगड़े, आदि होने से संबंधों में तनाव पैदा होती है। ये कड़वे पल हमारी मानसिक शांति और ध्यान को छीन लेते हैं।

अपनी मानसिक शांति के लिए यह बहुत आवश्यक हैं कि हम अपने रुठों को मना लें और इसमें आपकी मदद इस लेख में बताए हुए अमल और वजीफे करेंगे|

Kai baar aisa hota hai ki koi apna khas jankar or pyar karne wala bhi hamari kisi galti se naraz ho jata hai iske liye aaj hum aapko batayege Kisi Ko Manane Ka Wazifa, Dua, Tarike, Totke, Amal.

Yadi aapke shohar naraj hai to istemal kare Naraz Shohar Ko Manane Ka Wazifa, Tarika, Dua, Tarike, Totke, Amal.

biwi ke liye hai Naraz Biwi Ko Manane Ki Dua, Tarike, Totke, Amal, Wazifa, Totke or Mahbub ke liye hai Ruthe Hue Mahbub Ko Manane Ka Amal, Wazifa, Tarika, Dua, Tarike, Totke.

If you need any type of help and Guidance talks to us without any hesitation. In Sha Allah we will solve your problem.

Enquiry Form

Featured

किसी का मुंह बंद करने का वजीफा


किसी का मुंह बंद करने का वजीफा – Kisi Ka Muh Band Karne Ka Wazifa, Tarika, Totka, Dua, Amal, हमारे आस पास ऐसे बहुत से लोग है जो बोलते बहुत है और बिना काम के और बोलते भी इतना गलत है की दिल मई चुभ जाते है. इसके लिए हम लेके आये है सास का मुंह बंद करने का वजीफा, दुश्मन का मुंह बंद करने का वजीफा और शोहर का मुंह बंद करने का वजीफा इसलिए धयान से पढ़े

Kisi Ka Muh Band Karne Ka Wazifa

किसी का मुंह बंद करने का वजीफा – Kisi Ka Muh Band Karne Ka Wazifa, Tarika, Totka, Dua, Amal

  • ऐसा नीचा दिखाने या उनकी तरक्की में रोड़ा अटकाने के लिए करते हैं। उन्हें समझाने के बाद भी वे नहीं समझते हैं। इसका परिवार पर बुरा असर पड़ता है। इस स्थिति में कुछ लोग अवासद से घिर जाते हैं। जबकि कुछ लोगों और परिवारों के बीच घनघोर दुश्मनी हो जाती है।

एक महान दर्शनिक गायबल्स ने कहा था कि यदि किसी झूठ को सौ बार बोला जाए तो वह सच बन जाता है। यही कहावत आज हर परिवार या व्यक्ति के बारे में बोले जोने वाले दुष्प्रचार या झूठी बातों पर भी लागू होती है। ईष्र्या की भावना से कुछ लोग दूसरों के बारे में बुरा ही बोलते रहते हैं।

  • अगर कोई शख्स गाली और गलत जुबानी से आपकी समाज में इज्जत उछालता है, तो उसे उसके खिलाफ मुंह बंद करने का वजीफा पढ़ने का अमल करना चाहिए। इस वजीफे की आयतों का जिक्र र्कुआन-ए-पाक में किया गया है। इसके बारे मंे जानकार मौलवी से सलाह लेकर निम्न तरह के तरीके अपनाएं।
  • सबसे पहले उस व्यक्ति का नाम जेहन में बिठाएं, जिनकी जुबान को बंद करनी है।
  • प्रातः मगरीब की नमाज पढ़ने के बाद उसकी तस्वीर अपने सामने रखें या सादे कागज पर उसका काली स्याही से नाम लिखकर रख लें।
  • कुल 49 बार बार मुहं बंद का वजीफ पढ़ने से पहले और अंत मंे 11-11 बार दुरूद शरीफ पढ़ें।
  • उसके बाद सुराह यासीन को 11 बार पढ़कर सामने रखी तस्वीर फूंक मारें। इस अमल को लगातार 21 दिनों तक करें। यदि इसे कोई औरत करती है तो वह माहवारी के दिन इसे नहीं करे।

सास का मुंह बंद करने सा वजीफा

सास का मुंह बंद करने का वजीफा – Saas Ka Muh Band Karne Ka Wazifa, Tarika, Totka, Dua, Amal, अधिकतर घरों के सास की जुबान कतरनी जैसी बहू के खिलाफ चलती ही रहती है। बहू को भला-बुरा कहना उनकी रोजमर्रे की जिंदगी में शामिल रहता है।

दूसरी तरफ बहू सास की बदजुबान और ताने मारने से परेशान रहती है उसकी वजह से दूसरे घरेलू काम बिगड़ जाते हैं। शौहर और बीवी के बीच लड़ाई भी हो जाती है।

सास की कड़वी जुबान को जायज मकसद के लिए किसी मौलवी से सलाह-मश्विरे के बाद उनके बताए गए वजीफे को निम्न तरीके से पढ़ना चाहिए। अमल में लाया जाने वाले वजीफे को इंशा की नमाज के बाद पढ़ें। वजीफा है-

वा तम्मात कालीमतु रब्बीका सिदक्वनव वा अदला, ला मुबाद्दिला लाी कालीमंतिह, वा हुवास समीउल अलीम।

Saas Ka Muh Band Karne Ka Wazifa

  • इसके पहले और आखर में तीन-तीन बार दुरुद शरीफ अवश्य पढ़ें। अंत मंे ताजा रोटी पर दम करें।
  • वही रोटी सास की थाली में भोजन के साथ परोस दें। रोटी खाने के बाद ही सास की जुबान में मिठास आ जाएगी। इसे तबतक करें जबतक कि सास पूरी तरह ताने मारना नहीं छोड़े।
  • ध्यान रहे वजीफे को माहवारी के दिनों में नहीं करें। एक अन्य वजीफे को भी पहले जैसे ही किया जा सकता है। वजीफा है- वा अल्लहु अला मुबीअ दाईकुलम वा कफा बिल्ट लाही वाल्या वां कफा लाही ना सीरा।
  • हुक्म चलाने वाली सास की जुबान को रोजाना सूरह लहाब की दुआ अस-सलाम अलाइकुम को रोजाना 111 बार 11 दिनों तक पढ़कर भी बंद किया जा सकता है।

दुश्मन का मुंह बंद करने का वजीफा

दुश्मन का मुंह बंद करने का वजीफा – Dushman Ka Muh Band Karne Ka Wazifa, Tarika, Totka, Dua, Amal, कुछ बदजुबानी हरकतें दुश्मनों के जरिए भी की जाती हैं। उनकी वजह से काफी नुकसान उठाना पड़ सकता है। कई बार बना-बनाया काम बिगड़ जाता है।

इसके लिए र्कुआन-ए-पाक की आयतें पढ़कर जुबान बंद करने की दुआ करना चाहिए। मौलवी के अनुसार दुश्मन की ताकत या गंदी जुबान की हरकतों के अनुसार वजीफा का उपाय करना चाहिए। उसका तरीका इस प्रकार है-

Dushman Ka Muh Band Karne Ka Wazifa

  • शुरूआत मंगलवार और शनिवार को छोड़कर किसी भी दिन किया जाना चाहिए। वजीफा पढ़ने का वक्त रात को दस बजे के बाद हो।
  • दुश्मन का तस्सबुर करते हुए फर्ज नमाज पढ़ें और अल्लाह ताला से दुश्मन की जहरीली और दुष्प्रभावी जुबानों को बंद करने की दुआ करें। अपनी तरफ से दुश्मन को किसी भी तरह से नुकसान पहुंचाने की नीयत नहीं रखें।
  • हर नमाज के बाद 41 मर्तबा दिया गया आयत पढ़ें। आयत है- सुम्मुन बुकमुम उम्युन फहुम ला यार जी युन। इसके पहले और बाद में दुरुद शरीफ भी सात-सात बार अवश्य पढ़ें। वजीफा करने के दौरान दुश्मन की तस्वीर जेहन मंे ध्यान करें। संभव हो तो हाथ में उसकी तस्वीर भी रख लें।
  • मुंह में काली मिर्च रखकर 117 बार सिर्फ सुरहें पढ़ें। उस वक्त विस्मिल्लाह और दुरूद नहीं पढ़ना है।
  • अंत में तस्वीर पर दम करते हुए उसके निवास स्थान की दिशा में फूंक मारें। तस्वीर को काली या लाल स्याही से पोत दें। इसे लगातार सात दिनों तक करें। उसके बाद भी असर नहीं दिखे तो वजीफा 21 या फिर 41 दिनों तक निश्चित समय पर जारी रखें।

शौहर का मुंह बंद करने का वजीफा

शौहर का मुंह बंद करने का वजीफा – Shohar Ka Muh Band Karne Ka Wazifa, Tarika, Totka, Dua, Amal, हर विवाहिता चाहती है कि उसका शौहर उसके साथ प्यार से पेश आए। अच्छी और प्यार की जुबान में बातें करे। किंतु छोटी-छोटी बातों को लेकर शौहर बीवी की तौहीन करता रहता है।

यहां तक कि धमकियांे के साथ उसका मानसिक शोषण भी किया जाता है। उसके खिलाफ उसकी खुली जुबान बंद ही नहीं होती है। ऐसे शौहर की बेवजह खुलने वाली मुंह को बंद करने के लिए घरेलू टोटके के साथ वजीफा लगातार सात या 11 दिनों तक पढ़ना चाहिए।

Shohar Ka Muh Band Karne Ka Wazifa

  • वजीफा किसी भी दिन शुरू किया जा सकता है, लेकिन समय रात को 11 और 12 बजे के बीच का होना चाहिए। अपने साथ में एक ग्लास पानी और एक पुड़िया चीनी की रख लें।
  • र्कुआन की आयातों में बताए गए उसी आयात को अच्छी नियत के साथ पढ़ना चाहिए जिसका प्रयोग सास की मंुह बंद करने के लिए किया जाता है।
  • आयत को 121 बार पढ़ने के बाद पानी के ग्लास और चीनी की पुड़िया पर दम करें।
  • पानी का आधा हिस्सा घर के कोने में छिड़क दें और बाकी शौहर के पीने के पानी में मिला दें। कुछ घूंट खुद भी पी लें। इसी तरह से दम किए गए चीनी से ही शौहर के साथ-साथ खुद के लिए सुबह की चाय बनाएं।
  • अगर शौहर की तरफ से परेशानी बहुत अधिक है तो प्रतिदिन 1000 बार सुरह लुहाब का वजीफा पढ़कर पानी पर फूंक मारें और खुद पी लें। ऐसा चालीस दिनों तक करने से शौहर की जुबान में मिठास घुल जाएगी और वह नापतौल कर जो भी बातें करेगा उसमें ताने कम प्यार-मनुहार की झलक ज्यादा दिखेगी।

Hamare aas paas aise bahut se log or ristedar hote hai jinka kaam he bhalai burai karne ka hai, yaha tak to theek hai per wo itna bura bolte hai ki dil ko chub jata hai.

isliye aaj hum bata rahe hai Kisi Ka Muh Band Karne Ka Wazifa, Tarika, Totka, Dua, Amal.

Saas ke liye hai Saas Ka Muh Band Karne Ka Wazifa, Tarika, Totka, Dua, Amal.

Dushman ke liye hai Dushman Ka Muh Band Karne Ka Wazifa, Tarika, Totka, Dua, Amal.

Shohar ke liye hai Shohar Ka Muh Band Karne Ka Wazifa, Tarika, Totka, Dua, Amal.

If you need any type of help and Guidance talks to us without any hesitation. In Sha Allah we will solve your problem.

Enquiry Form

चैन सुकून की दुआ


चैन सुकून की दुआ – Chain Sukoon Ki Dua, Wazifa, Amal, Tarika, Upay, इस भागदौड़ की ज़िन्द्की मे हर कोई चैन सुकून ढूंढ रहा है पर इसका इलाज भी क़ुरान मे दिया हुआ है इसे दिल को सुकून मिलने की दुआ और दिमागी सुकून की दुआ कहते है. इसके अलावा इसको घर में सुकून के लिए दुआ भी कहा जाता है

Chain Sukoon Ki Dua

वर्तमान समय के संदर्भ में, जीवन बहुत जटिल और अतिव्याप्त प्रतीत होता है।हममें से अधिकांश लोग खुद को बहुत अधिक काम करने और खुद कोबहुत कम समय देने के लिए तैयार करते हैं|

चैन सुकून की दुआ – Chain Sukoon Ki Dua, Wazifa, Amal, Tarika, Upay

इससे तनाव का निर्माण होता है और मन की शांति नष्ट होती है। यह बदले में हमारे स्वास्थ्य और कल्याण पर प्रतिकूल प्रभाव डालता है।संतुलित जीवन जीने के लिए इस तरह के दुष्चक्र से मुक्त होना अनिवार्य है।

सच्चाई तो यह है कि जिंदगी में सबसे ज्यादा जरूरी है, तो वह है चैन और सुकून का मिलना| आज हम इस लेख में चैन और सुकून पाने के इस्लामी उपाय का बारे में चर्चा करेंगे|

चैन सुकून की दुआकी विधि-इस्लामिक संदर्भ में, माइंडफुल पीस मुराक़बाह का गुण है, जो एक शब्द है जिसका मूल अर्थ है “सुकून पाना, अवलोकन करना, सम्मान करना। इसके लिए आप को निम्न कदम उठाने होंगे:-

  • मुराक़बाह निरंतर पूर्ण ज्ञान है, जिसमें बंदा अल्लाह से उसके या उसके भीतर और बाहर से अवगत है। यह दिल, दिमाग और शरीर में अल्लाह के साथ एक रिश्ते में सतर्क आत्म-जागरूकता की एक पूरी स्थिति है।
  • इस स्थिति को पाने के लिए प्रतिदिन सुबह शाम के नमाज के बाद इब्न अल-क़य्यम और अल-ग़ज़ाली दोनों पवित्र ग्रंथो का पाठ करे|
  • इसके बाद अपने दोनों हाथ उठा कर अल्लाह से दुआ करे- “ओ मेरे खुदा तू अपने बंदों को चैन और सुकून दें, उसे सही रह दिखा, उसके रह से दोज़ख जाने वाले कार्यों को मिटा, तू सच में बहुत रहीम और करीम हैं|”
  • इस दुआ को परतीदिन पढ़ने से आपको निश्चित ही सुकून की प्राप्ति होगी|

दिल को सुकून मिलने की दुआ

दिल को सुकून मिलने की दुआ – Dil Ko Sukoon Milne Ki Dua, Wazifa, Amal, Tarika, Upay, आज के इस भाग-दौर की दुनिया में सभी किसी न किसी चीज के पीछे भाग रहे हैं और इस कारण उनका सुकून कहीं खो सा गया हैं|

आपके जीवन शैली में एक साधारण सा मोड़, जो मामूली भी हो सकता है, वह आपको एक आसान और शांतिपूर्ण जीवन जीने में मदद कर सकता है। आज हम इस्लाम में वर्णित उन दुआओं की चर्चा करेंगे जिसके नियमित पाठ से आपको सुकून हासिल हो सकता हैं|

Dil Ko Sukoon Milne Ki Dua

  • मन में अधिक से अधिक शांति और मानसिक व्याधियों से मुक्ति पाने के लिए विश्वास और ईमानदारी से एक या एक से अधिक उपचारात्मक युक्तियों का पालन करें:
  • शुद्ध चांदी पहनें: धातु चांदी चंद्रमा द्वारा शासित है इसलिए अंगूठी, चूड़ियाँ, कलाई बैंड या हार आदि के रूप में शुद्ध चांदी पहनें। जो भी वस्तु आप पहनते हैं वह पूरी तरह से आपके शरीर को छूना चाहिए। आप इसे पानी से अच्छी तरह से धोने के बाद जुम्मे से पहनना शुरू कर सकते हैं।
  • प्रतिदिन पाँच वक्त का नमाज अदा करे और फकीरों को दान दें| जुम्मे के दिन नमाज अदायगी के बाद फकीरों को खुद के हाथों से खाना खाने को दें| उनकी दुआओं से आपको बरकत और सुकून दोनों हासिल होगा|
  • सुकून पाने के लिए आप इस दुआ को किसी सफ़ेद कागज पर लिख कर अपने सिरहाने में रख ले और प्रतिदिन सोने से पहले इस कम से कम 22 मर्तबा पढे- “आध्यात्मिक उत्कृष्टता, विश्वास, उसकी आत्मा और अल्लाह सर्वशक्तिमान के साथ पूर्ण उपस्थिति (अल-हुदुर) द्वारा उसकी पूर्णता है, और उसकी (मराकबातियाही) की मानसिकता, उसका भय, उसे प्यार करना, उसका ज्ञान, उसका ज्ञान, उसकी ओर मुड़ना , और उसके प्रति ईमानदारी हैं, आमीन|”
  • उपयुक्त बताए हुए सभी बातों का यदि आप पालन करते हैं, तो आपको अपने जीवन में सुकून की प्राप्ति होंगी|

दिमागी सुकून की दुआ

दिमागी सुकून की दुआ – Dimagi Sukoon KI Dua, Wazifa, Amal, Tarika, Upay, इस जीवन में संतोष के लिए सुकून की स्थिति जरूरी है|शांति, (अल-सकीना) अल्लाह की ओर ले जाने वाले साधन हैं, और उसके लिए मुराक़बाह या सुकून हासिल करना जरूरी हैं|

अल्लाह,गौरवशाली और अतिशयोक्तिपूर्ण है, और दिमागी सुकून के लिए अल्लाह की शरण की जरूरत हैं|सभी सकारात्मक आध्यात्मिक और मानसिक अवस्थाएं इससे उत्पन्न होती हैं,

इसलिए दिमागी सुकून के लिए इसमें पैदा हो रहे फितूर का मिटना आवश्यक हैं, जो की अल्लाह ताला के रहमो करम से ही हो सकता हैं|दिमागी सुकून को पाने के लिए आप निम्न दुआओं को आजमा सकते हैं:-

Dimagi Sukoon KI Dua

  • मुरक़बाह या दिमागी सुकून वास्तव में अल्लाह की आराधना की पूर्णता है, जो सुंदर नामों की उचित समझ के अनुसार है, जो उनके संपूर्ण ज्ञान को व्यक्त करता है।
  • दुआ पाठ करें: पूरे चाँद की रात किसी भी आसान मुद्रा में बैठें और इस दुआ को कम से कम दस से पंद्रह मिनट तक पढे- “अलकबरी अल्मीशा वासेतुल्लाह वसीम नज़्म बख्शइलमिश आमीन|”
  • मेरा सुझाव है कि इसे दस से पंद्रह मिनट तक सुनाया जाए, न कि कुछ निश्चित संख्याओं के लिए। यदि आपको एक निश्चित संख्या में गिनती कर के सुनाने के लिए कहा जाता है, तो आपका पूराध्यान गिनती पूरा करने पर है। दुआ के अर्थ पर ध्यान केंद्रित करने और परिणामों की कल्पना करने से व्यक्ति को अधिक लाभ होता है।
  • इब्न अल-क़य्यम ने दिमागी सुकून पर अपना अध्याय लिखा हैं, जिसमें कहा गया हैं कि अल्लाह एक पहरेदार (अल-रकीब), अभिभावक (अल-हफ़िथ), जानने वाले (अल -अलीम), सुनने वाले (अल-सामी), चाहने वाले (अल-बसीर) के नामों के प्रति समर्पित होना चाहिए| इस प्रकार, जो कोई भी इन नामों को समझता है और उन्हें पूरा करने के लिए समर्पित है, वह सुकून को हासिल करेगा|

घर में सुकून के लिए दुआ

घर में सुकून के लिए दुआ – Ghar Me Sukoon Ke Liye dua, Wazifa, Amal, Tarika, Upay, घर में यदि कलह का माहौल हो, तो आप चाह कर भी सुकून हासिल नहीं कर सकते हैं|जैसा कि इब्न अल-क़ायम द्वारा कहा गया है,

आवक मुर्राबाह का रख-रखाव “विचारों, इरादों और आवक आंदोलनों की रक्षा” करने के लिए घर में सुकून का माहौल होना जरूरी हैं| यह शुद्ध हृदय (अल-क़ालब अल-सलीम) की वास्तविकता है, जिसके द्वारा अल्लाह को पाने की कोशिश की जाती हैं|

यह स्वयं धर्मी, समर्पित, और रब के प्रति-चेतन के आंतरिक शोधन (तज्रिद) की वास्तविकता है। आइये हम जानते हैं कि कौन से दुआओं को पढ़ने से आपके घर में अमन और सुकून का माहौल बन सकता हैं:-

Ghar Me Sukoon Ke Liye dua

फजल के नमाज को पढ़ने के बाद आप प्रतिदिन इस दुआ को 21 मर्तबा पढे- “रब्बी हाब ली हुकमैन वल्खिनि बियालेसलीहेन|”
आप हज़रत मस्जिद में किसी भी नमाज़ के बाद आखिर 7-7 मर्तबा दुरूद शारिफ़ पढे और उसके दरमियान “हां जामियु” 1100 मर्तबा पढे|
इस दुआ को आप किसी भी रोज पढ़ना शुरू कर सकते हैं| अगर ख्वातिन पढना चाहती हैं, तो वो घर में इस्की तस्बीह पढे।
इंशाअल्लाह, अल्लाह ताला आप के मकसद में आपको कामयाबी देगा। जल्द ही आपके घर में अमन और सुकून का माहौल बनने लगेगा|
देखा जाए तो चैन और सुकून इस दुनिया की सबसे मंहगी चीज हैं| लेकिन सौभाग्य से, कुछ चीजें हैं जो आपको नकारात्मक प्रभावों से छुटकारा दिला सकती हैं और आप के मन के चैन और सुकून को विकसित करने में मदद कर सकती हैं।

परिवार के साथ समय व्यतीत करना, किसी का पसंदीदा संगीत सुनना, भूले हुए शौक को पुनर्जीवित करना, सांत्वना खोजने के कुछ तरीके हैं। इसके अलावा लेख में दिये हुए दुआओं को प्रतिदिन पढ़े| ये दुआए आपको रब के करीब ले जाती हैं, जिससे आपको सुकून की प्राप्ति होती हैं|

Ajkal ki bhagdod ki zindki mai har koi chahata hai ki uski zindki mai sukoon ho chain ho, isliye aaj hum aapko bata rahe hai Chain Sukoon Ki Dua, Wazifa, Amal, Tarika, Upay.

Dil Ko Sukoon Milne ke liye hai Dil Ko Sukoon Milne Ki Dua, Wazifa, Amal, Tarika, Upay.

Dimagi Sukoon ke liye hai Dimagi Sukoon KI Dua, Wazifa, Amal, Tarika, Upay.

Ghar Me Sukoon ke liye hai Ghar Me Sukoon Ke Liye dua, Wazifa, Amal, Tarika, Upay.

If you need any type of help and Guidance talks to us without any hesitation. In Sha Allah we will solve your problem.

Enquiry Form